न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पारा शिक्षकों के हितों को सुरक्षित करने के लिए बन रही है नियमावली- रघुवर दास

33

Ranchi: पारा शिक्षकों की हड़ताल से वापस लौटने के बाद राज्य सरकार उनकी नाराजगी दूर करने में लगी हुई है. हड़ताल के दैरान सर्वशिक्षा अभियान के तहत खुले विद्यालयों में बच्चों की बाधित हो रही थी. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पारा शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात की. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि‍ सरकारी स्कूलों में गरीब के बच्चे पढ़ते हैं. हमारा लक्ष्य है कि गरीबों के बच्चे भी डॉक्टर और इंजीनियर बनें. इसके लिए उन्हें क्वालिटी शिक्षा देना जरूरी है. पारा शिक्षकों का इसमें अहम रोल है. पारा शिक्षकों की मांग पर सरकार सकारात्मक रूप से काम कर रही है. पारा शिक्षकों के हितों को सुरक्षित करने के लिए नियमावली बनायी जा रही है. नियमावली बनने से उन्हें बार-बार अपनी मांगों के लिए आंदोलन नहीं करना होगा.

कल्‍याण कोष का गठन

मुख्यमंत्री ने कहा कि पारा शिक्षकों के लिए कल्याण कोष का गठन किया गया है. इससे उन्हें लाभ होगा. किसी समस्या के ठोस रूप से निदान में प्रक्रिया का पालन करना जरूरी है. सरकार प्रक्रिया के तहत कार्य कर रही है, ताकि जो निर्णय हो उससे सभी को लाभ मिले और अदालत में निर्णय का पालन हो सके.

hosp3

बन रही झारखंड की अपनी नियमावली

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार छत्तीसगढ़ हो या उत्तर प्रदेश किसी की भी नियमावली के अनुरूप कार्य करने को तैयार हैं. लेकिन, इससे पारा शिक्षकों को लाभ नहीं होगा. इस पर पारा शिक्षकों ने कहा कि उन्हें दूसरे प्रदेश की नियमावली पर नहीं जाना है. झारखंड की अपनी नियमावली बन रही है, वह उन्हें मंजूर है. स्थापना दिवस के दिन विरोध-प्रदर्शन पर पारा शिक्षकों ने अफसोस जताया. बैठक में पारा शिक्षकों ने सरकार के सकारात्मक रुख पर संतोष जताते हुए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया. बैठक में पारा शिक्षक संघ के संजय दुबे, बजरंग प्रसाद, ऋषिकेश पाठक, सिंटू सिंह, नारायण महतो समेत अन्य पारा शिक्षक उपस्थित थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: