न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रघुवर कैबिनेट ने लगायी 14 प्रस्तावों पर मुहर, पेंशन में की 30 प्रतिशत की वृद्धि

गैर मजरूआ जमीन की लगान रसीद कटनी बंद हो गई थी. अब ऐसी जमीन पर पहले की तरह रसीद कटती रहेगी

686

Ranchi: मजरूआ जमीन पर रह रहे लोगों को रघुवर दास कैबिनेट ने एक बड़ी राहत दी है. राज्य कैबिनेट ने मंगलवार को मई 2016 में जारी उस आदेश को रद्द कर दिया, जिसके तहत गैर मजरूआ जमीन की लगान रसीद कटनी बंद हो गई थी. अब ऐसी जमीन पर पहले की तरह रसीद कटती रहेगी. बशर्ते उस जमीन पर किसी प्रकार का कोई न्यायिक विवाद ना हो. साथ ही राज्य कैबिनेट ने केन्द्रीय सेवा से रिटायर होने वाले आईएएस अधिकारी अनिल स्वरूप को झारखंड विकास परिषद का सीईओ नियुक्त किया है.

mi banner add

कुल 14 प्रस्तावों पर मुहर
इससे पहले राज्य कैबिनेट ने कुल 14 प्रस्तावों पर मुहर लगायी है. जिसमें अनुसूचित जाति के लिए आयोग का गठन सहित कई अन्य फैसले शामिल है. कैबिनेट सचिव एसकेजी रहाटे ने बताया कि झारखंड लोक सेवा आयोग को आज दो नए सदस्य मिल गये. लेकिन नाम का खुलासा अधिसूचना जारी होने के बाद किया जाएगा. साथ ही राज्य सरकार ने न्यायिक सेवा के पेंशनभोगियों को तोहफा देते हुए उनके मूल पेंशन में तीस प्रतिशत की वृद्धि की है.

इसे भी पढ़ें-हाईकोर्ट के निर्देश पर त्रिवेणी सैनिक के एजीएम, सुरक्षा एजेंट सहित अन्य पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज

कैबिनेट के फैसले एक नजर में

Related Posts

गिरिडीह : बार-बार ड्रेस बदलकर सामने आ रही थी महिलायें, बच्चा चोर समझ लोगों ने घेरा

पुलिस ने पूछताछ की तो उन महिलाओं ने खुद को राजस्थान की निवासी बताया और कहा कि वे वहां सूखा पड़ जाने के कारण इस क्षेत्र में भीख मांगने आयी हैं

  1. जेपीएससी में दो नए सदस्यों की नियुक्ति होगी.
  2. अनिल स्वरूप बने राज्य विकास परिषद के सीईओ
  3. न्यायिक सेवा के पेंशनभोगियों को राहत, मूल पेंशन में तीस प्रतिशत की हुई वृद्धि
  4. जीएम लैंड पर पहले की तरह रसीद कटती रहेगी
  5. कल्याण विभाग के स्कूल के शिक्षकों को काम के घंटे बढ़े
  6. रांची, धनबाद में अमृत योजना की होगी शुरुआत
  7. अनुसूचित जातियों के लिए राज्य आयोग का होगा गठन
  8. झारखंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में पदों का होगा सृजन
  9. विक्रमादित्य आयोग को एक बार फिर मिला अवधि विस्तार

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: