न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

राफेल डील पीछा नहीं छोड़ रही मोदी सरकार का, कांग्रेस हमलावर, मोदी जी झूठ बोल रहे हैं, जेपीसी जांच जरूरी

कांग्रेस के वरीय नेता गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर आरोपों की झड़ी लगाते हुए जेपीसी की मांग की.

22

 NewDelhi : राफेल डील मोदी सरकार का पीछा नहीं छोड़ रही है. मोदी सरकार अब भी कांग्रेस के निशाने पर है. बता दें कि दो जनवरी को लोकसभा में राफेल पर चर्चा में भाग लेने और मोदी सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाने के बाद आज शुक्रवार को भी कांग्रेस के तीन दिग्गज नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार को निशाने पर लिया.. कांग्रेस के वरीय नेता गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर आरोपों की झड़ी लगाते हुए जेपीसी की मांग की.

eidbanner

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीएम मोदी ने राफेल घोटाले पर पर्दा डालने की भरपूर कोशिश की है. चुनाव के दौरान जवालामुखी की तरह राफेल घोटाला फटेगा.  कहा कि सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने गलत हलफनामा दिया, जिस पर सुप्रीम कोर्ट का गलत फैसला आया. 

ऐसी सरकार को सुप्रीम कोर्ट को डिसमिस कर देना चाहिए

Related Posts

प. बंगालः टीएमसी को बड़ा झटका, दक्षिण दिनाजपुर जिला परिषद पर बीजेपी का कब्जा

तृणमूल कांग्रेस को झटका देते हुए दक्षिण दिनाजपुर जिले में पार्टी के वरिष्ठ नेता बिप्लब मित्रा भी बीजेपी में शामिल हुए.

mi banner add

आजाद ने भाजपा पर हमलावर होते हुए कहा कि जो सरकार कोर्ट में गलत ऐफिडेविट देती हो, ऐसी सरकार को सुप्रीम कोर्ट को डिसमिस कर देना चाहिए. इसलिए हम मांग करते हैं जेपीसी जांच होनी चाहिए. हमारी मांग है कि राफेल मामले में जेपीसी जांच हो. क्योंकि राफेल सौदे को लेकर कुछ नये तथ्य सामने आये हैं. इस क्रम में मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मोदी जी झूठ पर झूठ बोल रहे हैं. उनके वकील जेटली और सुषमा स्वराज भी झूठ बोल रहे हैं. इसलिए हम जेपीसी की मांग कर रहे हैं. रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि रक्षामंत्री और रक्षा मंत्रालय के फाइलों में राफेल घोटाले के राज दफन हैं.

रक्षा मंत्रालय की टीम ने सौदे पर सवाल उठाया पर पीएम मोदी ने उसे सीसीएस से उसे पास कराया. कहा कि हेड ऑफ फाइनेंस सुधांशु मोहनती ने भी इस पर सवाल उठाया था. पीएम ने राफेल की बेंचमार्क कीमत 39422 करोड़ से बढ़ाकर उसे 62166 करोड़ क्यों कर दिया. सरकारी खजाने को चुना क्यों लगाया गया. 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: