न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राफेल डील पीछा नहीं छोड़ रही मोदी सरकार का, कांग्रेस हमलावर, मोदी जी झूठ बोल रहे हैं, जेपीसी जांच जरूरी

कांग्रेस के वरीय नेता गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर आरोपों की झड़ी लगाते हुए जेपीसी की मांग की.

15

 NewDelhi : राफेल डील मोदी सरकार का पीछा नहीं छोड़ रही है. मोदी सरकार अब भी कांग्रेस के निशाने पर है. बता दें कि दो जनवरी को लोकसभा में राफेल पर चर्चा में भाग लेने और मोदी सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाने के बाद आज शुक्रवार को भी कांग्रेस के तीन दिग्गज नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार को निशाने पर लिया.. कांग्रेस के वरीय नेता गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर आरोपों की झड़ी लगाते हुए जेपीसी की मांग की.

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीएम मोदी ने राफेल घोटाले पर पर्दा डालने की भरपूर कोशिश की है. चुनाव के दौरान जवालामुखी की तरह राफेल घोटाला फटेगा.  कहा कि सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने गलत हलफनामा दिया, जिस पर सुप्रीम कोर्ट का गलत फैसला आया. 

ऐसी सरकार को सुप्रीम कोर्ट को डिसमिस कर देना चाहिए

आजाद ने भाजपा पर हमलावर होते हुए कहा कि जो सरकार कोर्ट में गलत ऐफिडेविट देती हो, ऐसी सरकार को सुप्रीम कोर्ट को डिसमिस कर देना चाहिए. इसलिए हम मांग करते हैं जेपीसी जांच होनी चाहिए. हमारी मांग है कि राफेल मामले में जेपीसी जांच हो. क्योंकि राफेल सौदे को लेकर कुछ नये तथ्य सामने आये हैं. इस क्रम में मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मोदी जी झूठ पर झूठ बोल रहे हैं. उनके वकील जेटली और सुषमा स्वराज भी झूठ बोल रहे हैं. इसलिए हम जेपीसी की मांग कर रहे हैं. रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि रक्षामंत्री और रक्षा मंत्रालय के फाइलों में राफेल घोटाले के राज दफन हैं.

रक्षा मंत्रालय की टीम ने सौदे पर सवाल उठाया पर पीएम मोदी ने उसे सीसीएस से उसे पास कराया. कहा कि हेड ऑफ फाइनेंस सुधांशु मोहनती ने भी इस पर सवाल उठाया था. पीएम ने राफेल की बेंचमार्क कीमत 39422 करोड़ से बढ़ाकर उसे 62166 करोड़ क्यों कर दिया. सरकारी खजाने को चुना क्यों लगाया गया. 

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: