न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राफेल डील पर रार जारी, खड़गे बोले, सरकार ने बोला झूठ, कैग और एजी को तलब करेंगे

राफेल डील पर SC ने भले ही मोदी सरकार को एक तरह से बरी कर दिया हो,  पर विवाद अभी थमा नहीं है

1,202

NewDelhi : राफेल डील पर SC ने भले ही मोदी सरकार को एक तरह से बरी कर दिया हो,  पर विवाद अभी थमा नहीं है. अब कांग्रेस कैग (कॉम्पट्रोलर ऐंड ऑडिटर जनरल) की रिपोर्ट को आधार बनाकर नये सिरे से हमलावर है. बता दें कि पीएसी (पब्लिक अकाउंट कमिटी या लोक लेखा समिति) के चेयरमैन मल्लिकार्जुन खड़गे ने शनिवार को आरोप लगाया कि सरकार ने कैग(सीएजी) की रिपोर्ट को लेकर SC में झूठ बोला. इसलिए वह कैग और एजी को तलब करने जा रहे हैं. आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने SC में झूठ बोला है कि कैग की रिपोर्ट को सदन में और पीएसी के समक्ष रखा जा चुका है और पीएसी ने इसकी जांच भी की.  मल्लिकार्जुन खड़गे इस क्रम में कहा, सरकार ने SC में कहा है कि यह पब्लिक डोमेन में है लेकिन यह कहां है? क्या आपने इसे देखा है कहा कि मैं इस मामले को पीएसी के दूसरे सदस्यों के समक्ष उठाने जा रहा हूं .

 खड़गे का आरोप, सरकार ने धोखे से काम किया  

 हम एजी (अटर्नी जनरल) और कैग को भी बुलायेंगे. खड़गे का आरोप था कि सरकार ने धोखे से काम किया है. कहा कि हम SC के फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन वह जांच एजेंसी नहीं है .  ऐसे में हम राफेल डील पर जेपीसी की मांग पर अड़े हुए हैं.  पूछा जा रहा है कि क्या SC के फैसले में टाइपो एरर है? जानकारी के अनसार अपने फैसले में पेज नंबर 21 में  SC ने कहा है कि सरकार ने कैग के साथ राफेल की कीमतों का विवरण साझा किया है और कैग अपनी रिपोर्ट को पहले ही अंतिम रूप दे चुके हैं. उसे संसद की लोक लेखा समिति से साझा किया जा चुका है  SC ने  कहा है, कीमत से जुड़े विवरण कॉम्पट्रोलर ऐंड ऑडिटर जनरल से साझा कि;s जा चुके हैं और कैग की रिपोर्ट की जांच-परख पीएसी कर चुकी है. टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार कैग की रिपोर्ट को अभी अंतिम रूप दिया जाना बाकी है और जनवरी के आखिर तक यह पूरी हो सकती है.   

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: