न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राफेल डील : बोले एयर चीफ मार्शल, SC का फैसला शानदार, रक्षा खरीद में राजनीति न हो

एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने राफेल विमान को युद़ध  में पासा पलटने वाला बताते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने फ्रांस के साथ हुई राफेल डील के खिलाफ दायर याचिकाओं पर बहुत अच्छा फैसला दिया है.

1,152

NewDelhi : एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने राफेल विमान को युद़ध  में पासा पलटने वाला बताते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने फ्रांस के साथ हुई राफेल डील के खिलाफ दायर याचिकाओं पर बहुत अच्छा फैसला दिया है. इस क्रम में बीएस धनोआ ने रक्षा खरीद के राजनीतिकरण के खिलाफ सावधान करते हुए कहा कि पूर्व में इसी की वजह से सेना को बोफोर्स तोप हासिल करने में देरी हुई थी.  वे जोधपुर में बेाल रहे थे. कहाकि  मैं फैसले पर कुछ कहने नहीं जा रहा हूं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट का फैसला बहुत अच्छा है. एयर चीफ मार्शल ने यह भी कहा कि इस विमान की हमें सख्त जरूरत है. प्रौद्योगिकी की बात पर कहा कि राफेल विमान के खिलाफ कोई तर्क नहीं है.  बता दें कि रूस के साथ संयुक्त सैन्याभ्यास के अवसर पर उनका बयान ऐेसे समय में आया है, जब महज कुछ दिन पूर्व ही सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील जांच की मांग संबंधी याचिकाएं खारिज कर दीं हैं.  याद करें कि कांग्रेस  लगातार 36 राफेल विमानों के इस सौदे में अनियमितता का आरोप लगा रही है.

भारत के पड़ोसियों ने रक्षा आयुध भंडार काफी उन्नत कर लिया है

कांग्रेस का दावा है कि मोदी सरकार उस कीमत से बहुत ऊंचे मूल्य पर राफेल विमान खरीद रही है, जिस पर यूपीए सरकार बातचीत कर रही थी.  एयर चीफ मार्शल धनोआ ने कहा, वायुसेना ने यह तय किया है कि विमान में श्रेष्ठ (युद्धक) प्रणालियां हों. कहा कि योजनाबद्ध खरीद में पहले ही काफी लंबा समय लग चुका है.  इतने समय में भारत के पड़ोसियों ने अपना रक्षा आयुध भंडार काफी उन्नत कर लिया है. धनोआ के अनुसार हमारे रणनीतिक परिदृश्य के मद्देनजर हमें राफेल की जरूरत है. बता दें कि एयर चीफ मार्शल  सरकार के इस कथन का समर्थन करते हुए नजर आये कि विभिन्न हथियारों से लैस विमान के मूल्य विवरण का खुलासा होने से प्रतिद्वंद्वी उसकी क्षमता जान लेंगे. इस क्रम में कहा कि करदाताओं को यह जानने का हक है कि उनका पैसा कहां जाता है लेकिन नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक यह सुनिश्चित करने के लिए हैं कि इसका सही ढंग से कैसे इस्तेमाल हो.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: