न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राबड़ी देवी ने कहा,  तेज प्रताप सीधा है, विरोधी भड़का रहे हैं.  बहुत हुआ बेटा…अब वापस आ जाओ…

अपने बेटों तेजस्वी और तेज प्रताप में किसी प्रकार के विवाद से इनकार करते हुए राबड़ी ने कहा, राजदऔर मेरा घर टूटने वाला नहीं है.

155

Patna : राबड़ी देवी ने दावा किया कि उनका बड़ा बेटा तेज प्रताप जल्द ही घर लौट आयेगा. कहा कि मैं अपने बेटे को जानती हूं.  वह सीधा है.  विरोधी लोग उसे भड़का रहे हैं.  बहुत हुआ बेटा…अब वापस आ जाओ. राबड़ी देवी ने एक टीवी इंटरव्यू में यह बात कही. इस क्रम में अपने बेटों तेजस्वी और तेज प्रताप में किसी प्रकार के विवाद से इनकार करते हुए राबड़ी ने कहा, राजदऔर मेरा घर टूटने वाला नहीं है.  तेज प्रताप और तेजस्वी में अनबन के सवाल पर उन्होंने कहा, ऐसी कोई बात नहीं है.  दोनों के बीच बात होती है.  फिलहाल तेज सरकारी आवास में रह रहे हैं.  पर, जल्द ही वह घर वापस आ जायेंगे. बता दें कि लोकसभा चुनाव में सियासी सरगर्मी के बीच बिहार में लालू प्रसाद यादव के परिवार और उनकी पार्टी  राजद में घमासान मचा हुआ है.

इसे भी पढ़ेंःहजारीबाग से आखिर कौन होगा कांग्रेस उम्मीदवार ? देर से कहीं महागठबंधन को ना हो जाये नुकसान

Aqua Spa Salon 5/02/2020

बिहार के लोगों को लालू जी कमी खलती है

यह घमासान बाहरी लोगों के कारण नहीं बल्कि घर के भीतर दोनों भाइयों तेज प्रताप और तेजस्वी यादव के बीच मतभेद को लेकर है.  हालांकि लालू यादव की पत्नी और पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने तेज और तेजस्वी में किसी भी तरह के विवाद से साफ इनकार किया है.  अपने इंटरव्यू  में लालू प्रसाद के जेल में रहने के विषय में चर्चा करते हुए राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार के लोगों को उनकी कमी खलती है.  बता दें कि कुछ दिन पहले ही राबड़ी देवी ने एक कविता लिखकर लालू को याद किया था;  भावुक राबड़ी ने कविता में लिखा था, ….जन जन में लालू है, कण कण में लालू है, हर मन में लालू है.

दो सीटों पर अपने करीबियों के लिए टिकट मांग रहे तेज प्रताप ने पिछले दिनों भाई  तेजस्वी यादव को महाभारत के युद्ध की याद दिलाकर संकेत देने की कोशिश की थी  कि वह अपनी मांगों के समर्थन में किसी भी हद तक जा सकते हैं.  ट्वीट कर तेज ने लिखा था, महाभारत का युद्ध कौरवों और पांडवों के बीच हुआ था, जिसमें दोनों तरफ से करोड़ों योद्धा मारे गये थे.  ये संसार का सबसे भीषण युद्ध था.  उससे पहले न तो कभी ऐसा युद्ध हुआ था और न ही भविष्य में कभी ऐसा युद्ध होने की संभावना है.

इसे भी पढ़ेंः राबड़ी देवी का दावा, राजद में जदयू के विलय का प्रस्ताव लेकरआये थे प्रशांत किशोर, मैंने भगाया था

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like