न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गाय पर फिर चढ़ा सियासी पारा : प्रधानमंत्री के बयान पर वाम, कांग्रेस और ओवैसी ने किये सवाल

59

New Delhi: पीएम नरेंद्र मोदी ने आज मथुरा के कार्यक्रम में ‘गाय’ को लेकर विपक्षी दोलों के रवैये पर बयान दिया तो कुछ ही देर में सियासी पारा गरम हो गया. वर्तमान समय में  गाय को लेकर हुए विवादों और बहस पर पीएम ने कहा कि ‘ॐ’ शब्द सुनते ही कुछ लोगों के कान खड़े हो जाते हैं जबकि कुछ लोगों के कान में ‘गाय’ शब्द सुनाई देता है तो उनके बाल खड़े हो जाते हैं.

इस बयान पर विपक्षी दलों ने सवाल उठाये हैं. इस क्रम में सबसे पहले एआईएमआईएम चीफ व सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री के कान तो तब खड़े हो जाने चाहिए जब गाय के नाम पर आम आदमी की जान ली जा रही है. और इसके बाद देश के संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ेंः #Newtrafficrules: सरकार नये मोटर व्हीकल कानून को वापस ले, नहीं तो होगा राज्यव्यापी आंदोलनः बाबूलाल

गाय हिंदू भाइयों के लिए पवित्र: ओवैसी

ओवैसी ने आगे कहा कि गाय हिंदू भाइयों के लिए पवित्र है लेकिन देश के संविधान में जीवन और समानता का अधिकार भी लोगों को दिया गया है, मुझे आशा है कि प्रधानमंत्री इस तर्क को भी समझने का प्रयास करेंगे. इसके बाद विपक्ष के कई नेताओं के बयान आने लगे. कांग्रेस नेता हरीश रावत और वाम दल के नेता डी. राजा ने भी मोदी के बयान पर पलटवार किया.

Related Posts

#Delhi_ Violence : जांच के लिए दो एसआइटी का गठन,  आप पार्षद ताहिर हुसैन पर एफआइआर दर्ज, फैक्ट्री सील

दिल्ली हिंसा की जांच के लिए विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया गया है.  दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के तहत दो एसआईटी का गठन किया गया है.

कांग्रेस ने कहा, आर्थिक मंदी पर चुप्पी क्यों  

इस क्रम में  कांग्रेस ने आर्थिक संकट को आगे रखते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधा है. कांग्रेस ने कहा कि  मोदी आर्थिक मुद्दों को छोड़कर गाय और ओम् की बात करने लगे हैं. लेकिन कारोबारी जगत के गम्भीर मुद्दों पर उनका ध्यान नहीं जाता है. कांग्रेस ने तंज करते हुए कहा कि लगता है उन्होंने वित्त मंत्री को इससे निपटने के लिए अकेला छोड़ दिया है. दरअसल, मथुरा में दुधारू पशुओं को रोगमुक्त करने के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत करने के बाद बुधवार को पीएम मोदी ने कहा, ‘कुछ लोगों के कान में ‘गाय’ शब्दत पड़ता है तो उनके बाल खड़े हो जाते हैं, उनको करंट लग जाता है. उनको लगता है कि देश 16वीं-17 वीं सदी में चला गया है. ऐसे लोगों ने ही देश को बर्बाद कर रखा है.’

भारतीयों के कानों में अजान की आवाज भी आती है  

मोदी का यह बयान आते ही विपक्षी नेताओं ने उनपर हमले शुरू कर दिए. हैदराबाद से सांसद और एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने एक विडियो संदेश जारी कर कहा, ‘मैं पीएम को याद दिलाना चाहता हूं कि यकीनन वह जो कह रहे हैं वह भी सुनते हैं और हिंदुस्तानियों के कानों में अजान की आवाज भी आती है. हिंदुस्तानियों के कानों में गुरुद्वारों से भी आवाज सुनाई पड़ती है. हम गिरजाघर के घंटे भी सुनते हैं. यह हिंदुस्तान है. यह कहना कि सिर्फ एक ही आवाज सुनकर किसी के कान खड़े हो जाते हैं, ठीक नहीं.’

इसे भी पढ़ेंः स्टेन स्वामी को नहीं मिली हाइकोर्ट से राहत, निचली अदालत से जारी वारंट को निरस्त करने की मांग की थी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like