Fashion/Film/T.VRanchi

त्रैमासिक पत्रिका ‘साहित्योदय’ का रांची प्रेस क्लब में विमोचन

Ranchi: अंतर्राष्ट्रीय साहित्य कला संगम साहित्योदय के बैनर तले प्रकाशित त्रैमासिक पत्रिका साहित्योदय और वेबसाइट का सोमवार को लोकार्पण हुआ. रांची प्रेस क्लब सभागार में आयोजित समारोह में पत्रिका का लोकार्पण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रांची विश्वविद्यालय के कुलपति रमेश पाण्डेय ने किया.

साहित्य, कला और संस्कृति के क्षेत्र से जुड़ी 100 पन्नों की इस कलर्ड मैगजीन में दुनियाभर के रचनाकारों की अनमोल कृतियां शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंः तीसरे झारखंड अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव का साहित्योदय में सफल आयोजन

40 से अधिक कविताओं, कहानियों का संग्रह

इस पत्रिका में 40 से अधिक कविताएं, कहानियां, लघुकथा, निबंध, आलेख व्यंग्य और संस्मरणों का संग्रह है. साथ ही कोरोना काल में साहित्य के नए अवतार पर शानदार आवरण कथा है, जिसमें इस संक्रमण काल में साहित्योदय और साहित्य ने लोगों को जोडक़र संबल प्रदान किया है. बता दें कि आज भी साहित्योदय द्वारा कई कार्यक्रमों को किया जा रहा है. इन्हीं कार्यक्रमों की कड़ी में साहित्योदय की रंगीन पत्रिका कि ‘विमोचन पर्व’ संपन्न हुआ.

यही नहीं साहित्य की सेवा में पिछले कई वर्षों से लगे साहित्योदय ने इस कोरोना काल को साहित्य सृजनकाल में बदल दिया है. लॉकडाउन पीरियड की निराशा और तनाव को दूर करने के लिए बीते 22 मार्च से ही ‘कोरोना से जंग साहित्योदय के संग’ अभियान साहित्योदय ने चला रखा है जिसमें अबतक डेढ़ हजार से अधिक ऑनलाइन काव्य पाठ हो चुके हैं.

वहीं सोमवार को ‘साहित्योदय’ पत्रिका विमोचन के इस अवसर पर तीन पुस्तकों का भी विमोचन किया गया. सविता गुप्ता की ‘घरौंदा’ रंजना वर्मा उन्मुक्त की ‘कुछ कहती है जिंदगी’,  रुणा रश्मि दीप्त की ‘भाव प्रसून’ काव्य संग्रह का विमोचन कार्यक्रम भी कुलपति रमेश पांडे तथा प्रख्यात साहित्यकार अशोक प्रियदर्शी के द्वारा संपन्न हुआ. कार्यक्रम में पत्रिका के प्रधान संपादक पंकज भूषण पाठक, ‘प्रियम’, संपादक संजय करुणेश, उपसंपादक डॉ.रजनी शर्मा,पुष्पा सहाय, गीता चौबे गूंज, समेत कई साहित्य से जुड़े लोगों ने सहयोग प्रदान किया.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड में वेंटिलेटर पर है RTI

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: