National

पंजाब : कैप्टन अमरिंदर ने कहा, सिद्धू मुझे हटाकर मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं

Patiala : पंजाब के सीएम अमरिंदर ने नवजोत सिंह  सिद्धू को महत्वाकांक्षी बताते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि शायद सिद्धू की ख्वाहिश मुख्यमंत्री बनने की है. सिद्धू मुझे हटाना चाहते हैं.  पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और राज्य के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. बता दें कि  लोकसभा चुनाव 2019 में टिकट न मिलने पर सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने कैप्टन के खिलाफ खुलकर नाराजगी जताई थी. इसका सिद्धू ने भी समर्थन किया था.  पंजाब की 13 लोकसभा सीटों पर सातवें चरण के तहत वोटिंग हो रही है.सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पटियाला के पोलिंग बूथ नंबर 89 पर अपना वोट डाला.

Advt

इसे भी पढ़ें-  पीएमओ को क्लीन चिट : चुनाव आयुक्त अशोक लवासा के विरोध के बाद चुनाव आयोग फिर विचार करने को तैयार 

मेरा उनके साथ कोई वैचारिक मतभेद नहीं है

मतदान के बाद नवजोत सिद्धू का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, नवजोत सिंह सिद्धू के साथ मेरी कोई जुबानी जंग नहीं है. अगर वह महत्वाकांक्षी हैं तो इसमें कुछ गलत नहीं है. लोगों की महत्वाकांक्षाएं होती हैं. मैं उन्हें बचपन से जानता हूं. मेरा उनके साथ कोई वैचारिक मतभेद नहीं है. वह शायद मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं और मुझे हटाना चाहते हैं.

अमरिंदर ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत की उम्मीद जताते हुए कहा, राज्य में आम तौर पर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान हो रहा है. तरनतारन में हत्या की एक घटना सामने आयी है लेकिन पुलिस की शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक यह निजी रंजिश का मामला था. कानून-व्यवस्था की स्थिति शांतिपूर्ण है. चुनाव में हम बीजेपी और अकाली दल दोनों को शिकस्त देंगे.

इसे भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल में फिर हिंसा, बीजेपी ने लगाया टीएमसी पर फर्जी वोटिंग और मारपीट का आरोप

 टिकट न मिलने पर कैप्टन से नाराज नवजोत कौर

नवजोत कौर ने आरोप लगाया था कि उन्हें अमरिंदर सिंह की वजह से अमृतसर से लोकसभा टिकट नहीं मिला. उन्होंने कहा था कि अमरिंदर सिंह और पार्टी महासचिव पंजाब प्रभारी आशा सिंह ने पुख्ता इंतजाम किया था कि उन्हें अमृतसर सीट से टिकट न मिले. नवजोत ने अमृतसर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा था, ‘कैप्टन साहब और आशा कुमारी सोचती हैं कि मैडम सिद्धू संसदीय सीट का टिकट पाने की हकदार नहीं हैं.

मुझे अमृतसर से टिकट इसलिए नहीं दिया गया कि मैं बीते साल अमृतसर में हुए दशहरा रेल हादसे से पैदा हुई नाराजगी की वजह से जीत नहीं पाऊंगी. पंजाब के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू से जब उनकी पत्नी के आरोपों के बारे में गुरुवार को सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, मेरी पत्नी नैतिक रूप से इतनी मजबूत हैं कि वह कभी झूठ नहीं बोलेंगी.

इसे भी पढ़ें- ममता बनर्जी नरसंहार करा सकती हैं, केंद्रीय बलों को वहीं रोका जाये :  निर्मला सीतारमण

Advt

Related Articles

Back to top button