National

पुलवामा टेरर अटैक : सरकार ने टीवी चैनलों को आगाह किया,  संयम बरतें, ऐसी कवरेज न करें,  जिससे हिंसा भड़के

NewDelhi : पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए 40 से अधिक जवानों को लेकर टीवी चैनलों पर आक्रामक तरीके से कवरेज किये जाने को लेकर मोदी सरकार ने निजी टीवी चैनलों को आगाह किया है. सरकार की तरफ से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकवादी हमले की पृष्ठभूमि में सभी टीवी चैनलों से ऐसी सामग्री पेश करने के प्रति आगाह किया है,  जिससे हिंसा भड़कने के आसार हों या देश विरोधी रुख को बढ़ावा मिलने की आशंका हो. बता दें कि  मंत्रालय द्वारा जारी परामर्श में कहा गया है कि हालिया आतंकवादी हमलों को देखते हुए टीवी चैनलों को सलाह दी जाती है कि वे ऐसी किसी भी ऐसी सामग्री के प्रति सावधान रहें जो हिंसा को भड़का अथवा बढ़ावा दे सकती हैं अथवा जो कानून व्यवस्था को बनाने रखने के खिलाफ जाती हो या देश विरोधी रुख को बढ़ावा देती हो और/अथवा देश की अखंडता को प्रभावित करती हो.  मंत्रालय ने कहा कि सभी निजी चैनलों को इसका कड़ाई से पालन करने का अनुरोध किया जाता है.

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में अवन्तीपुरा के गोरीपुरा इलाके में उस वक्त गुरुवार को हमला हुआ, जब सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था.सीआरपीएफ काफिले पर हुए हमले में करीब 350 किलो IED   का इस्तेमाल हुआ. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली और इसे आत्मघाती बताया. रक्षा अधिकारी ने हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई है. उधर, पीएम नरेंद्र मोदी सहित कई राजनेताओं ने हमले की निंदा की है. रिपोर्ट के अनुसार उरी के बाद यह सबसे बड़ा आतंकी हमला है. घायलों का श्रीनगर स्थित सेना के अस्‍पताल में इलाज चल रहा है. सीआरपीएफ के जवानों को ले जा रही बस को मुख्‍य रूप से निशाना बनाया गया था. हमले में कई अन्‍य वाहन भी क्षतिग्रस्‍त हुए हैं. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाकर किए गए आईईडी विस्फोट की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इसे आत्मघाती हमला बताया है.

शहीद जवानों का आंकड़ा 41 के लगभग पहुंच गया

आतंकी  हमले में शहीद हुए जवानों का आंकड़ा 41 के लगभग पहुंच गया है. हालांकि आधिकारिक तौर पर सीआरपीएफ ने 37 जवानों की मौत की पुष्टि की है. सीसीएस की बैठक में आज गृहमंत्री के साथ सीआरपीएफ के डीजी भी होंगे जो हालात के बारे में अवगत करायेंगे. इसके बाद करीब 12 बजे गृहमंत्री और सीआरपीएफ के डीजी श्रीनगर के लिए रवाना हो जाएंगे. श्रीनगर में हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धाजलि दी जायेगी. उसके बाद सारे शवों को एक विशेष विमान से गाजियाबाद के हिंडन एयर बेस लाया जायेगा. यहीं से जिस इलाके के जवान है वहां शव भेजे जायेंगे. उत्तर प्रदेश से करीब 10 से 12 और पंजाब से 4-5 जवान है, बाकी राज्यो से एक दो जवान है.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: