न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पुलवामा: मुठभेड़ के बाद पत्थरबाजों-सुरक्षाबलों में भिड़ंत, सात नागरिकों समेत 11 की मौत

सात नागरिक और तीन आतंकी की मौत, सेना का एक जवान शहीद

1,909

Shrinagar: दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई एक मुठभेड़ में जहां तीन आतंकी ढेर हो गये और सेना का एक जवान शहीद हुआ है. वही आतंकियों के खात्मे के बाद इलाके में पत्थरबाज उग्र हो गये. मुठभेड़ के दौरान ही सुरक्षाबलों और स्थानीय लोगों में झड़प हुई. ऑपरेशन से गुस्साये लोगों ने पत्थरबाजी की.

वही अपने बचाव में और इलाके में एकत्रित हुई उग्र भीड़ को तितर बितर करने के लिए सुरक्षाबलों की ओर से फायरिंग की गई. जिसमें सात स्थानीय नागरिकों की मौत हो गई है. इसके बाद पूरे पुलवामा और उसके आस-पास के गांवों में तनाव का माहौल है. फिलहाल इंटरनेट सेवा भी बंद है.

आतंकी जहूर के घिरे होने की खबर पर जुटी भीड़

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह घटना सुबह सिर्नू गांव में हुई जब सुरक्षाबलों ने सेना से भागे हुए जहूर अहमद ठोकेर समेत तीन आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया रिपोर्टों के आधार पर इलाके की घेराबंदी कर दी.
उन्होंने बताया कि जैसे ही ठोकेर के मुठभेड़ में फंसे होने के बारे में खबरें फैली तो लोगों ने मुठभेड़ स्थल पर जुटना शुरू कर दिया. ठोकेर इसी गांव का था. अधिकारियों ने बताया कि तीन आतंकवादियों के मारे जाने के साथ ही मुठभेड 25 मिनट में खत्म हो गई. लेकिन सुरक्षाबल तब मुश्किल में पड़ गए जब लोगों ने सेना के वाहनों पर चढ़ना शुरू कर दिया.

उन्होंने बताया कि लोगों को चेतावनी देने के लिए हवा में गोलियां भी चलाई गईं. लेकिन उससे भी उग्र भीड़ रुकी नहीं, जिससे सुरक्षाबलों को उन पर गोलियां चलानी पड़ी. घटना में सात नागरिकों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए. जिनमें एक युवक की हालत गंभीर बताई जा रही है.

ठोकेर पिछले साल जुलाई में उत्तर कश्मीर के बारामूला जिले के गंटमुल्ला इलाके में सेना की शाखा से लापता हो गया था. वह अपनी सर्विस राइफल और तीन मैगजीन के साथ फरार हो गया था. और आतंकवादी संगठन में शामिल हो गया था. सुरक्षाबलों ने कहा कि वह पुलवामा जिले में कई हत्याओं में शामिल था. दो अन्य आतंकवादियों की पहचान की जा रही है. अधिकारियों ने बताया कि मुठभेड़ में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया, जबकि दो अन्य जवानों की हालत गंभीर है.

इसे भी पढ़ेंःजम्मू-कश्मीरः पुलवामा में मोस्ट वॉन्टेड जहूर समेत तीन आतंकी ढेर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: