BusinessJharkhandLead NewsRanchi

दाल की कीमतोंं में 30 रुपये तक उछाल

  • एक तो कोरोना की मार, दूजे महंगाई का दंश

Ranchi: त्योहारी मौसम के बीच महंगाई ने लोगों की कमर तोड़ दी है. नवरात्र में भी सब्जियों के आसमान छूती कीमतों के बाद अब दूसरे खाद्य सामग्रियों के दाम में बेतहाशा वृद्धि हो रही है. इसमें रसोई की सबसे अहम खाद्य सामग्री दाल है. हाल के दिनों में इसकी कीमत लगातार बढ़ती जा रही है. दाल में पांच रुपये से लेकर 30 रुपये तक की वृद्धि हुई है.

Jharkhand Rai

बाजार समिति के अनुसार खुले बाजार में अरहर दाल की कीमत 120 रुपये तक पहुंच गयी है जबकि उड़द दाल और मूंग दाल ठीक उससे पहले सेंच्यूरी लगा चुका है. वहीं चना दाल 75 रुपये और मसूर दाल 72 रुपये किलो खुदरा में बिक रहा है. इसके अलावा अन्य सामग्रियों में कुछ अधिक उछाल देखने को नहीं मिला है.

इसे भी पढ़ें- Koderma : बिहार चुनाव को लेकर बढ़ायी गयी चौकसी, सभी वाहनों की हो रही जांच

थोक खरीदारी में 15 रुपये किलो का लाभ, फिर भी दुकानदार कर रहे मनमानी

खाद्य सामग्रियों की थोक दर से करीब 15 रुपये तक का मुनाफा खुदरा विक्रेताओं को समिति द्वारा दिया जा रहा है. इसके बावजूद ग्राहकों से 30 से 40 रुपये तक का मुनाफा कमा रहे हैं. दूसरी ओर खाद्य आपूर्ति विभाग ने बताया कि जो खुदरा दर निर्धारित की गयी है उसके हिसाब से ही ग्राहकों से पैसा लेना है लेकिन इसके बाद भी अगर कोई अधिक राशि वसूल रहा है तो उसके खिलाफ शिकायत की जा सकती है. इसके लिए 1967 पर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं.

Samford

इसे भी पढ़ें- भारत-आस्ट्रेलिया बॉक्सिंग डे टेस्ट में दर्शकों की उपस्थिति को लेकर आश्वस्त : सरकार

सैनिटाइजर व मास्क 100 रुपये तक

कृषि उत्पादन बाजार समिति द्वारा जो दर लागू की गयी है उसमें मास्क व सैनिटाइजर की भी दर निर्धारित की गयी है. इसमें सैनिटाइजर की दर 30 रुपये से 100 रुपये तक रखी गयी है जबकि मास्क की दर 10 से 70 रुपये तक निर्धारित है.

इस पूरे मसले पर मंत्री रामेश्वर उरांव का कहना है कि ये केंद्र सरकार की देन है. उसने नयी कृषि नीति लाकर महंगाई बढ़ायी है.पहले स्टॉक रखने की लिमिट थी लेकिन अब सारा कुछ खत्म हो गया है. फिर भी राज्य सरकार चीज़ों को देख रही है, महंगाई कम करने के लिए कई पहलुओं पर काम कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- घोषणापत्र में कह दे बीजेपी कि चुनाव में बहुमत किसी को मिले, सरकार भाजपा की बनेगी : डॉ रामेश्वर उरांव

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: