न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जनता की आवाज चुनाव में हो शामिल, इसलिए पार्टी कर रही सीधा संवाद : डॉ अजय कुमार

38

Ranchi : झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने कहा कि जन-आवाज के तहत पार्टी समाज के हर वर्ग के लोगों से सीधा संवाद स्थापित कर रही है. पार्टी क्षेत्र एवं जनता की समस्याओं से अवगत हो रही है, ताकि आनेवाले 2019 के चुनाव में जनता की आवाज को शामिल किया जा सके. चुनाव घोषणा पत्र को पार्टी अब वचन पत्र के रूप में ला रही है. उन्होंने कहा कि ये चुनावी वायदे नहीं होंगे, बल्कि हमारा वचन होगा, जिससे पार्टी सत्ता में आने के बाद अवश्य पूरा करेगी. इस अवसर पर कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, अमोल देशमुख, बिंदु कृष्णा, मीडिया प्रभारी राजेश ठाकुर, प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद एवं लाल किशोर नाथ शाहदेव उपस्थित थे.

एक प्रतिशत लोगों को ध्यान में रख भाजपा करती है काम

प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का यह मानना है कि देश की सरकार को 99 प्रतिशत लोगों के कल्याण की तरफ कार्य करना चाहिए. इसके विपरीत वर्तमान भाजपा की सरकार एक प्रतिशत को केंद्र बिंदु में रखकर कार्य कर रही है, यही दुर्भाग्य का विषय है. ज्यादा से ज्यादा लोगों की आवाज को कांग्रेस पार्टी प्राथमिकता देना चाहती है. देश भर से लोगों के सुझाव लिये जा रहे हैं, ताकि उन सुझावों को पार्टी प्राथमिकता दे सके और आनेवाले समय में अपने वचन पत्र में इसे सम्मिलित किया जा सके.

hosp1

अधिकारविहीन लोगों के लिए बने कानून

उन्होंने बताया कि सामाजिक संगठनों एवं बुद्धिजीवियों द्वारा कई बहुमूल्य सुझाव आये हैं, जिनमें से स्वास्थ्य का अधिकार, खाद्य सुरक्षा का अधिकार, शुद्ध पेयजल, झारखंड के आदिवासियों पर हो रहे अत्याचार, मॉब लिंचिंग, प्रशासनिक तंत्र का दुरुपयोग, शिक्षा का अधिकार, सूचना का अधिकार सहित कई महत्वपूर्ण विषयों पर गंभीर चर्चा हुई. डॉ अजय कुमार ने कहा कि इन विषयों पर जो कानून बनाये गये हैं, उनका पालन सख्ती से हो, ऐसा सुझाव आया है और जो अधिकार लोगों को नहीं मिला है, उसके लिए कानून बनाया जाये.

सरकार बताये क्यों हो रही राज्य में भूख से लोगों की मौत : आलमगीर आलम

कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने कहा कि भाजपा सरकार भोजन के अधिकार के तहत देश के 86 प्रतिशत आबादी को राशन देने की बात कहती है, तो झारखंड राज्य में भूख से मौतें क्यों हो रही हैं. दरअसल, लोगों को राशन देने की सरकारी प्रक्रिया काफी जटिल है. ज्यादातर लाभुक राशन लेने से वंचित रह जाते हैं. आलम ने कहा कि गांवों में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाने की आवश्यकता है. देखने को यह मिल रहा है कि छोटी-मोटी बीमारियों के इलाज के लिए शहर या रिम्स तक आना पड़ता है. कांग्रेस पार्टी की यह प्राथमिकता है स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाया जाये.

इसे भी पढ़ें- भाजपा ही एकमात्र ऐसी पार्टी, जो राम मंदिर निर्माण को लेकर है कमिटेड : सुदेश वर्मा

इसे भी पढ़ें- पारा शिक्षकों के आंदोलन के समर्थन में 30 नवंबर को राजभवन के समक्ष धरना देगा झाविमो

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: