Business

ई-कॉमर्स कंपनियों के खिलाफ व्यापारियों का देशभर में विरोध-प्रदर्शन

New Delhi: व्यापारी संगठनों ने बुधवार को अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी प्रमुख ई-कॉमर्स कंपनियों के खिलाफ देश के 700 से अधिक शहरों में धरना-प्रदर्शन किया.

Jharkhand Rai

व्यापारियों के संगठन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के आह्वान पर व्यापारियों ने ‘राष्ट्रीय विरोध दिवस’ मनाया और अमेजन व फ्लिपकार्ट द्वारा अपनाये जा रहे अनुचित व्यापार व्यवहार पर विरोध जताया.

कैट ने कहा कि अमेजन एवं फ्लिपकार्ट ने अपनी अनैतिक व्यापार पद्धति से ई-कॉमर्स बाजार को ‘दूषित’ कर दिया है. ये कंपनियां खुलेआम सरकार की प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआइ) नीति का उल्लंघन कर रही हैं.

प्रतिबंध लगाने की मांग

कैट के अनुसार प्रदर्शकारियों ने सरकार से ई-कॉमर्स पोर्टल अमेजन और फ्लिपकार्ट पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है.

Samford

कैट के महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि व्यापारियों को अमेजन और फ्लिपकार्ट के भारत में व्यापार करने पर कोई एतराज नहीं है किन्तु व्यापारियों की तरह इन ई-कॉमर्स कंपनियों को भी सरकार की एफडीआइ नीति तथा अन्य कानूनों का पालन करना होगा जिससे बाजार में समान प्रतिस्पर्धा बनी रहे.

कैट ने मांग की है कि जब तक कि ये कंपनियां अपने पोर्टल को पूरी तरह देश की एफडीआइ नीति और अन्य कानूनों के अनुरूप नहीं कर लेती हैं, उनका परिचालन बंद कर दिया जाना चाहिए.

कैट ने सरकार से यह भी मांग की है कि इन कंपनियों के कारोबारी मॉडल, खातों और उनको मिले विदेशी निवेश की जांच की जानी चाहिए. कैट ने यह भी मांग की है कि यह पता लगाया जाना चाहिए कि ऐसा कौन सा कारोबारी मॉडल है जिसमें हर साल करोड़ों रुपये का घाटा उठाने के बावजूद ये कंपनियां ग्राहकों को लगातार छूट दे रही हैं.

इसे भी पढ़ें – #Jharkhand में 10 हजार आदिवासियों पर लगा राजद्रोह कानून, लेकिन देश की अंतरात्मा नहीं हिली: राहुल

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: