JharkhandKoderma

दिल्ली में बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म और हत्या के खिलाफ निकला विरोध मार्च

Koderma : देश की राजधानी दिल्ली में 9 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म और हत्या के खिलाफ़ दलित शोषण मुक्ति मंच (डीएसएमएम) और अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति (एडवा) के संयुक्त बैनर तले शुक्रवार को कला मंदिर से ओवर ब्रिज होते हुए झण्डा चौक तक विरोध मार्च निकाला गया. जिसका नेतृत्व डीएसएमएम के जिला सचिव महेन्द्र तुरी और एडवा की संयोजक पूर्णिमा राय ने किया. जुलूस में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा कहां गया, मोदी सरकार जवाब दो…, 9 वर्षीय गुड़िया के दुष्कर्म व हत्या के दोषियों को फांसी दो…, बहू बेटियों की रक्षा की गारंटी करो…, गृह मंत्रालय शर्म करो… आदि नारे लगाये जा रहे थे.

झण्डा चौक पर डीएसएमएम के नेता दिनेश रविदास की अध्यक्षता में हुई सभा को सम्बोधित करते हुए सीटू नेता संजय पासवान ने कहा कि दिल्ली की पुरानी नांगल बस्ती की 9 साल की बच्ची के साथ बलात्कार और हत्या करने वाले घिनौने अपराधियों पर तुरन्त कार्रवाई की जानी चाहिए.

इसे भी पढ़ें :अब राज्य में सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को झारखंड से मैट्रिक-इंटर पास होने पर ही मिलेगी सचिवालय में नौकरी

Catalyst IAS
ram janam hospital

देश की राजधानी दिल्ली में कानून व्यवस्था की जिम्मेवारी अमित शाह के नेतृत्व वाली गृह मंत्रालय की है. जहां अपराधी बेखौफ हैं.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

यह मामला ठंडा भी नहीं हुआ था, कि शुक्रवार को फिर से 6 साल की बच्ची के साथ अपराधियों ने बलात्कार किया. विरोध प्रदर्शन के माध्यम से मांग की गयी कि हत्या में शामिल लोगों के ख़िलाफ़ दायर मामले का निष्पादन ‘फ़ास्ट ट्रैक’ कोर्ट में किया जाये ताकि पीड़ित परिवार को इंसाफ़ मिलने में देर न हो.

इसे भी पढ़ें :राज्य स्तरीय पदों में अब सिर्फ मुख्य परीक्षा होगी, कार्मिक विभाग ने नयी नियमावली लागू की

उन पुलिस अधिकारियों के ख़िलाफ़ भी कार्रवाई की जाये, जिन पर आरोप है कि उन्होंने पीड़ित के परिवार को ही 15 घंटों तक दिल्ली कैंट थाने में बैठाये रखा और प्राथमिकी दर्ज करने में भी देरी की.

विरोध प्रदर्शन में किसान सभा के असीम सरकार, रामचन्द्र राम, अशोक रजक, रविन्द्र भारती, शिवपूजन पासवान, हरेंद्र राम, बाबू दास, नजरूल इस्लाम, दिलीप दास, राजू दास, प्रदीप दास, अशोक भुइयां, जेठा भुइयां, यशोदा देवी, रेखा देवी, रीना देवी, कविता देवी, गुड़िया देवी, दुलारी देवी, माया देवी सहित दर्जनों लोग शामिल थे.

इसे भी पढ़ें :रांची को 21 हजार और ईस्ट सिंहभूम को 18 हजार कोविशील्ड की डोज

Related Articles

Back to top button