Jamshedpur

एक्सएलआरआई से हटाए गए 15 मजदूरों को फिर से काम पर रखने की मांग पर धरना

ठेकेदार के अंडर में काम करने का किया विरोध, मांगें पूरी नहीं होने पर 20 अक्तूबर से क्रमिक धरना पर बैठने की चेतावनी

Jamshedpur :  एक्सएलआरआई  में मजदूरी का काम करने वाले 15 मजदूरों को ठेकेदार की ओर से बैठा दिए जाने का विरोध अब शुरू हो गया है. इस मामले में मजदूरों का साथ झामुमो का भी मिल रहा है. झामुमो के नेतृत्व में सोमवार को सभी मजदूरों ने एक्सएलआरआई गेट पर धरना-प्रदर्शन किया. उनकी मांगें पूरी नहीं होने पर 20 अक्तूबर से क्रमिक धरना पर बैठने की भी चेतावनी दी गई है.

ठेकेदार के अंडर में नहीं करना है काम

धरना पर बैठे मजदूरों का कहना है कि उन्हें ठेकेदार के अंडर में काम नहीं करना है. उन्हें डायरेक्ट प्रबंधन के अधीन में काम करना है. ठेकेदार की ओर से उनका शोषण किया जाता है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

84 में 15 को काम से बैठाया

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

मजदूरों का कहना है कि एक्सएलआरआई में कुल 84 मजदूर काम करते हैं. इसमें से ही 15 लोगों को बैठा दिया गया  है. अब उनके समक्ष परिवार समेत भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है. इस उम्र में वे कहां जाएंगे.

30 सालों से कर रहे हैं काम

मजदूरों ने कहा कि वे ठेकेदार के अंडर में पिछले 30 सालों से लगातार काम कर रहे हैं. इस बीच उन्हें बैठा दिया गया है. 2018 से ही उन्हें ठेकेदार के अंडर में कर दिया गया है. अब उन्हें परेशानी हो रही है. उन्हें समय पर मजदूरी देने का भी काम नहीं किया जाता है. धरना में झामुमो नेता श्यामल सरकार, शेख बदरूद्दीन, दल गोविंद लोहरा, लालटू महतो आदि समर्थन देने पहुंचे हुए थे.

इसे भी पढ़ें-छठ पूजा व दीपावली को लेकर भाजमो ने की बैठक, घाट सफाई व मरम्मत के लिए करेगी पहल

 

 

 

Related Articles

Back to top button