GoddaJharkhand

गोड्डा जिले में कुड़माली भाषा को क्षेत्रीय भाषा की सूची में शामिल नहीं किए जाने का विरोध

GODDA :  गोड्डा जिला को क्षेत्रीय भाषा कुड़माली भाषा से बाहर रखें जाने के विरोध में कुड़मी विकास युवा मोर्चा के बैनर तले सदर प्रखंड के शहीद रघुनाथ महतो चौक, पथरिया घाट में मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन का पुतला दहन किया गया.

 

इसे भी पढ़ेंः एमजीएम में बेलाजुड़ी के पास कार की टक्कर से बाइक सवार की मौत

कहा कि गोड्डा सहित पूरे संथाल परगना में झारखंड कर्मचारी चयन आयोग द्वारा मैट्रिक तथा इंटरमीडिएट स्तर पर ली जाने वाली प्रतियोगिता परीक्षाओं में क्षेत्रीय भाषा की सूची में कुड़माली भाषा को शामिल नहीं किया गया है. जबकि इस क्षेत्र में कुड़माली भाषा के काफी लोग निवास करते हैं.

Chanakya IAS
Catalyst IAS
SIP abacus

इसे भी पढ़ेंः कोर्ट ने बस ड्राइवर को सुनाई 190 साल की सजा, हादसे में जिंदा जले थे 22 यात्री

The Royal’s
Sanjeevani
MDLM

जिसके खिलाफ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया गया. जबकि झारखंड के धनबाद-बोकारो में भोजपुरी, मगही जैसी बाहरी भाषा को क्षेत्रीय भाषा की सूची में शामिल किया गया है. ये  काफी दुर्भाग्यपूर्ण है. इसका हम पुरजोर विरोध करते हैं. वहीं इस कार्यक्रम में गोड्डा जिला के तमाम विधायकों से आग्रह किया कि आप सभी जिस प्रकार अंगिका भाषा को क्षेत्रीय भाषा की सूची में शामिल कराने को लेकर मुखर होकर आवाज उठाय, उसी प्रकार कुड़माली भाषा को भी क्षेत्रीय भाषा की सूची में शामिल कराने को लेकर सदन में जनता की आवाज बनें.

इसे भी पढ़ेंः पलामू : बिहार के कुख्यात कोढ़ा गैंग के तीन अपराधी गिरफ्तार, स्वास्थ्य सहिया समेत पांच गिरफ्त में

Related Articles

Back to top button