Education & CareerRanchi

‘UGC की गाइड लाइन के अनुसार बिना परीक्षा लिए ही फस्ट और सेकेंड ईयर के छात्रों को दी जाए प्रमोशन’

Ranchi. एनएसयूआई ( NSUI ) ने मांग किया है कि विनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय ( Binod Bihari Mahto Koylanchal University ) सहित झारखंड ( Jharkhand News ) के सभी विश्वविद्यालय ( University ) में अध्ययन कर रहे यूजी, पीजी, लॉ, B.ed एवं अन्य सभी कोर्स के छात्र छात्राओं को यूजीसी के गाइडलाइंस के अनुसार अंतिम सेमेस्टर के छात्रों को छोड़कर फर्स्ट ईयर एवं सेकंड ईयर कि छात्रों को बिना परीक्षा लिए प्रमोशन करने की व्यवस्था की जाए.

इसे भी पढ़ें – NewsWingImpact: धनबाद में सब्जी बेच रही नेशनल आर्चरी खिलाड़ी को उपायुक्त ने दिया 20 हजार का चेक

झारखंड प्रदेश एनएसयूआई ने क्या कहा

झारखंड प्रदेश एनएसयूआई ( Jharkhand NSUI ) के अध्यक्ष सैयद अमीर हाशमी ने कहा कि करोना महामारी में यह संभव नहीं है कि ऑफलाइन परीक्षा आयोजित की जाए, जिसके चलते सत्र काफी लेट चल रहा है, कई कोर्स के सत्र 1 साल से भी ज्यादा लेट से चल रहा है एवं दुर्लभ क्षेत्र में इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं है.

जिसके कारण ऑनलाइन परीक्षा असंभव है. उन्होंने कहा कि बहुत सारे छात्र-छात्राओं के पास एंड्रॉयड मोबाइल फोन भी नहीं है, जिससे वह ऑनलाइन परीक्षा में भाग नहीं ले सकते.

इसे भी पढ़ें – केरल में मानसून ने दी दस्तक, इन राज्यों में आंधी और बारीश की चेतावनी

ऑनलाइन और ऑफलाइन हो रजिस्ट्रेशन

साथ ही उन्होंने कहा कि चांसलर पोर्टल पर भी ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन की रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की भी जाए. छात्रों के भविष्य को देखते हुए जैसे महाराष्ट्र, गोवा और छत्तीसगढ़ सरकार ने निर्णय लिया है, वैसा ही झारखंड सरकार को भी इस संबंध में निर्णय लेने की आवश्यकता है.

सैयद अमीर हाशमी ने कहा कि धनबाद में आईआईटी, ISM एवं झारखंड पॉलिटेक्निक के छात्रों को बिना परीक्षा लिए उनके सेमेस्टर में प्रमोशन की व्यवस्था की गई है, साथ ही ऑनलाइन क्लासेस शुरू कर सत्र को नियमित करने का प्रयास किया जा रहा है, इसी तरह विनोद बिहारी कोयलांचल विश्वविद्यालय को भी इस संबंध में उचित निर्णय लेना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – गोपालगंज हत्याकांड को लेकर तेजस्वी का नीतीश सरकार से सवाल, पूछा- कब गिरफ्तार होंगे JDU विधायक पप्पू पांडेय

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close