JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

झारखंड एड्स कंट्रोल के परियोजना निदेशक राजीव रंजन हटाये गये, लगे हैं कई आरोप

दो सदस्यीय कमेटी कर रही है आरोपों की जांच

Ranchi : झारखंड राज्य एड्स नियंत्रण समिति के परियोजना निदेशक राजीव रंजन पर आरोप लगाये जाने के बाद उनका तबादला कर दिया गया. राजीव रंजन पर एनजीओ चयन में भ्रष्टाचार, टेंडर, ईओआई, वित्तीय अनियमितता और नियुक्ति में गड़बड़ियों का आरोप लगाया गया है. देर शाम उनका तबादला योजना वित्त विभाग के अपर सचिव के पद पर कर दिया गया है.

 

बता दें कि उनपर लगे आरोपों की जांच दो सदस्यीय कमिटी स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त सचिव प्रसाद कृष्ण वाघमारे को इस कमिटी का अध्यक्ष बनाया गया है. वही विभाग के उप सचिव राजेश कुमार इस जांच कमिटी के सदस्य बनाये गए हैं. कमिटी को 25 फरवरी तक सभी संबद्ध पक्षों से जानकारी प्राप्त कर मामले की जांच करनी है और विभाग को प्रतिवेदन सौंपना है.

 

इस संबंध में विभाग के संयुक्त सचिव विद्यानंद शर्मा पंकज ने आदेश जारी कर दिया था. कमिटी के अध्यक्ष प्रसाद कृष्ण वाघमारे ने एड्स कंट्रोल के परियोजना निदेशक राजीव रंजन को शिकायतों से संबंधित फाइलें और अभिलेख अविलंब उपलब्ध कराने के आदेश दिए थे. इस जांच कमिटी के बनने और आदेश जारी होने के बाद एड्स कंट्रोल ऑफिस में हड़कंप मचा हुआ था.एनजीओ के चयन में हुई मनमानी के संबंध में कई ऑडियो क्लिप्स भी वायरल हुए हैं, जिसमें राजीव रंजन द्वारा पैसे मांगे जाने की बातें की जा रही हैं.

Catalyst IAS
ram janam hospital

Related Articles

Back to top button