OFFBEAT

सजायाफ्ता कैदियों के बनाये उत्पाद बिक रहे हैं सिविल कोर्ट में, एक साल में 85 हजार रुपये से ज्यादा के उत्पादों की बिक्री

Ranchi : सिविल कोर्ट परिसर स्थित फोर्टी कोर्ट्स बिल्डिंग में जेल के सजायाफ्ता कैदियों के बनाये उत्पादों की बिक्री हो रही है. एक रूम को ही उत्पादों की बिक्री के लिए उपलब्ध कराया गया है. यहां पर इन उत्पादों की काफी अच्छी बिक्री भी हो रही है.

जेल के ही एक कर्मी को यहां बिक्री के लिए रखा गया है. वे बिक्री करने के साथ इसका रिकॉर्ड भी मेंटेन करते हैं. सिविल कोर्ट के जज, अधिवक्ता और कोर्ट परिसर में आनेवाले आम लोग यहां के उत्पादों के ग्राहक हैं. एक साल में 85 हजार रुपये से ज्यादा के उत्पादों की बिक्री हुई.

इसे भी पढ़ें :बाबूलाल मरांडी से जुड़े दलबदल मामले में सुप्रीम कोर्ट ने हस्तक्षेप से किया इंकार, विस स्पीकर की याचिका खारिज

अलमीरा से लेकर कंबल तक कई उत्पाद उपलब्ध हैं

यहां पर कैदियों के बनाये दर्जनभर उत्पाद उपलब्ध हैं. इनमें अलमीरा, बुक सेल्फ, कंप्यूटर टेबल, कुर्सी, कंबल, सूजनी (मेट), चादरें, गमछा, फिनाइल, साबुन, पूजा के आसन, रजिस्टर, गमछा, मोमबत्ती आदि शामिल हैं. बुक सेल्फ की कीमत 14 271, सेल्फ 5034, पेंटिग 1100 रुपये, कंबल 317 रुपये से लेकर 713 रुपये तक, चादर 300 रुपये तक, रंगीन गमछा 122 रुपये, फिनाइल 67 रुपये की कीमत में बिक रहा है. गमछा, कंबल, साबुन आदि की काफी अच्छी डिमांड है.

जेल में सजायाफ्ता कैदियों को प्रशिक्षण देने की व्यवस्था है. वहां पर इन छोटे-छोटे उत्पादों को बनाने के लिए फैक्ट्री की तरह इंतजाम किये गये हैं. यहां पर रांची जेल और हजारीबाग जेल के कैदियों के उत्पादों को रखा गया है. इन उत्पादों को बनाने में गुणवत्ता का काफी ध्यान रखा गया है. इसलिए यहां के उत्पादों की अच्छी बिक्री हो रही है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में वाटर कनेक्शन हुआ महंगा, पांच सौ रुपये में मिलता था कनेक्शन, अब न्यूनतम सात हजार लगेंगे

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: