BusinessJharkhandLead NewsRanchi

झारखंड में होगा इमली के केक का प्रोडक्शन

जेएसएलपीएस ने की तैयारी, सखी मंडलों को रोजगार से जोड़ने की कवायद

Ranchi: झारखंड में बड़े पैमाने पर उपजनेवाली इमली से अब केक, कैंडी और चटनी जैसे प्रोड्क्टस तैयार करने और उन्हें बड़ा बाजार उपलब्ध कराने की तैयारी चल रही है.

झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसायटी (जेएसएलपीएस) सखी मंडलों से जुड़ी महिलाओं को इसके लिए प्रोत्साहित कर रही है.

advt

जेएसएलपीएस की सीईओ नैन्सी सहाय ने महिला किसान सशक्तिकरण परियोजना के अंतर्गत काम कर रही दीदियों को आश्वस्त किया है कि उन्हें इसके लिए आवश्यक सहायता प्रदान की जायेगी.

इसे भी पढ़ें :कैंपा की जिस राशि से करना था पौधारोपण, उससे पलामू टाइगर रिजर्व में खड़ी कर दी दीवार

सीईओ ने किया केंद्रों का निरीक्षण

नैंसी सहाय ने रांची के नामकुम स्थित सामुदायिक कृषि इन्क्युबेशन केंद्र एवं खूंटी के कालामाटी स्थित ग्रामीण सेवा केंद्र में सखी मंडल की दीदियों से मुलाकात कर आजीविका बढ़ाने के लिए किये जा रहे कार्यों पर चर्चा की.

दीदियों ने उनसे सरसों तेल प्रसंस्करण हेतु मशीन उपलब्ध कराने का आग्रह किया. नैन्सी सहाय ने लेमन ग्रास, तुलसी, त्रिफला जैसे औषधीय पौधों की मांग को देखते हुए इनका उत्पादन बढ़ाने पर जोर दिया.

इसे भी पढ़ें :ब्लैक फंगस के झारखंड में 8 नये केस, 2 कंफर्म, 6 सस्पेक्टेड

उन्होंने कालामाटी स्थित ग्रामीण सेवा केंद्र का भी निरीक्षण किया. काला माटी इमली प्रसंस्करण इकाई का संचालन कालामाटी ग्रामीण सेवा केंद्र के 30 सदस्यों द्वारा किया जा रहा है. इस पहल के अंतर्गत राज्य में करीब 12 हजार परिवार ईमली संग्रहण एवं प्रसंस्करण कार्यों से जुड़े हैं.

इसे भी पढ़ें :जून में नहीं हो पायेंगे सड़क और पुल के टेंडर, जानिए क्या है वजह

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: