न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

माध्यमिक शिक्षकों की समस्या : चार जिलों के शिक्षकों को ही मिला प्रोमोशन, 20 जिलों में अब भी इंतजार

47
  • लगभग 10 हजार शिक्षकों का रुका है प्रोमोशन, 1993 से नियुक्त शिक्षकों को मिलना है प्रोमोशन
  • 2018 में स्कूली शिक्षा विभाग ने आरडीडीई की अध्यक्षता में कमिटी गठित करने का दिया था आदेश
  • आरडीडीई ने कहा नहीं मिला है इस सबंध में कोई पत्र

Ranchi : राज्य में माध्यमिक शिक्षकों की समस्याओं पर कोई ध्यान देनेवाला नहीं. यहां लगभग 10 हजार माध्यमिक शिक्षकों का प्रोमोशन विभागीय कार्यवाही और जिला शिक्षा पदाधिकारियों की नजरअंदाजी के कारण रुका हुआ है. माध्यमिक शिक्षकों की नियुक्ति और उनके प्रोमोशन से संबंधित कार्य जिला शिक्षा पदाधिकारी करते हैं. अब तक राज्य के मात्र तीन जिलों में पूर्ण रूप से इन शिक्षकों को प्रोमोशन मिला. इन जिलों में देवघर, पाकुड़ और गढ़वा शामिल हैं. जबकि, रांची में सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गयी है, जल्द ही रांची जिला के शिक्षकों को प्रोमोशन की खुशखबरी मिलेगी. लेकिन, अन्य 20 जिलों के शिक्षकों को इस संबध में सिर्फ उदासीनता मिल रही है.

1993 से रुका है शिक्षकों का प्रोमोशन

hosp3

शिक्षकों का प्रोमोशन 1993 से रुका है. इसमें कई ऐसे शिक्षक हैं, जिनकी नियुक्ति या तो 1993 में हुई है या 1993 से पहले हुई है. झारखंड माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष गंगा प्रसाद यादव ने बताया कि इनमें से कई शिक्षक या तो सेवानिवृत्त हो चुके हैं या उनका देहांत हो चुका है. जबकि, लंबे समय से शिक्षक वर्ग प्रोमोशन नहीं मिलने की समस्या को लेकर संघर्ष कर रहा है.

पूर्व शिक्षा सचिव ने जारी किया था नोटिफिकेशन

गंगा प्रसाद ने बताया कि स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की पूर्व सचिव आराधना पटनायक ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया था कि जल्द से जल्द शिक्षकों का प्रोमोशन किया जाये. लेकिन, इसके बावजूद विभाग कुछ नहीं कर रहा. जबकि, विभिन्न स्तरों पर अधिकारियों को इससे अवगत कराया गया है.

आरडीडीई की अध्यक्षता में करना था कमिटी का गठन

18 जनवरी 2018 को स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने इस संबंध में रांची, क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक  (आरडीडीई) की अध्यक्षता में कमिटी का गठन करने का आदेश दिया था. इसमें विभागीय कार्यों के निष्पादन के साथ शिक्षकों की नियुक्ति और प्रोन्नति से संबंधित कार्य करने थे.

आरडीडीई ने कहा- पत्र नहीं मिला

हालांकि, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा आदेश दिये एक साल हो गया है, लेकिन अब आरडीडीई अशोक कुमार शर्मा का कहना है कि इस संबंध में विभाग से कोई पत्र नहीं मिला है. पत्र मिलता, तो कमिटी का गठन जरूर किया जाता है. जब उनसे पूछा गया कि बड़ी संख्या में शिक्षकों का प्रोमोशन क्यों रुका हुआ है, तो उन्होंने कहा कि यह जिला शिक्षा पदाधिकारियों के क्षेत्र में आता है, इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है.

इसे भी पढ़ें- जेपीएससी मुख्य परीक्षा टलने के आसार कम, स्थगित कराने को लेकर प्रयासरत परीक्षार्थी

इसे भी पढ़ें- बंधु को मिली बेल, वकील ने कहा- कोर्ट ने बंधु को बताया ईमानदार नेता

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: