NationalUttar-Pradesh

#PriyankaGandhi ने लखनऊ पुलिस पर गला दबाने और धक्का देकर गिराने का आरोप लगाया

Lucknow : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शनिवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ दो दिवसीय दौरे पर पहुंचीं वहां पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी के घरवालों से मुलाकात की. खबरों के अनुसार इस दौरान कुछ देर के लिए प्रियंका के वाहन को पुलिस ने रोक लिया. इसके बाद प्रियंका गांधी ने लखनऊ पुलिस पर गला दबाने और धक्का देकर गिराने का गंभीर आरोप लगाया हैं. इसके बाद यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने इसे प्रियंका गांधी की नौटंकी करार दिया और आलोचना की.

जान लें कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में हुई हिंसा भड़काने तथा अन्य आरोप में पुलिस ने पूर्व आईपीएस एसआर.दारापुरी, सोशल ऐक्टिविस्ट तथा कांग्रेस प्रवक्ता सदफ जफर को गिरफ्तार किया है. एसआर दारापुरी और सदफ जफर के परिवार से मिलने जाने के क्रम में प्रियंका गांधी को रास्ते में पुलिस ने रोक लिया. इस पर प्रियंका ने कहा, हमें रोड पर रोकने का कोई मतलब ही नहीं है. यह मामला एसपीजी का नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश पुलिस का है.


इसे भी पढ़ें : #Jammu_Kashmir : शेख अब्दुल्ला जयंती पर अवकाश खत्म, अब विलय दिवस 26 अक्टूबर होगा छुट्टी का दिन

प्रियंका वाड्रा की नौटंकी की निंदा की जानी चाहिए : भाजपा 

इस दौरान प्रियंका ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, रास्ते में पुलिस की गाड़ी अचानक आगे आयी और रोक लिया. पुलिस ने कहा कि जाने नहीं देंगे. मैं उतरकर पैदल चलने लगी तो पुलिस ने घेरा बनाकर मेरा गला दबाया और धक्का देकर गिराया. मेरे साथ बदसलूकी हुई. इसके बाद मैं पार्टी के एक कार्यकर्ता के साथ स्कूटी पर बैठकर जाने लगी तो फिर पुलिस ने रोका.

प्रियंका गांधी वाड्रा के इन आरोपों पर बीजेपी ने पलटवार किया. यूपी के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने ट्वीट किया, प्रियंका वाड्रा का परिवार केवल झूठ पर पनपता है.  थूको और भागो का सिद्धांत आपको अस्थायी प्रचार देगा, लेकिन वोट नहीं. कहा कि प्रियंका वाड्रा की नौटंकी की निंदा की जानी चाहिए.

इसे भी पढ़ें : मोदी सरकार #NRC के लिए बना रही है डिटेंशन कैंप, हमारा मकसद अलग था : चिदंबरम

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: