न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पीएम मोदी से मुकाबले पर बोलीं प्रियंकाः मैं नहीं राहुल देंगे टक्कर

पति वाड्रा से ईडी की पूछताछ पर कहा- ये चीजें चलती रहेंगी

565

Lucknow: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को कहा कि उनका मुकाबला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से नहीं है. बल्कि पीएम मोदी को टक्कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी देंगे. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी चार दिनों के यूपी दौरे पर हैं. वहीं जयपुर से लौटने के बाद मंगलवार की रात प्रियंका ने अलग-अलग लोकसभा क्षेत्रों से आए पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की. करीब 16 घंटे तक चली बैठकों के बाद बुधवार सुबह करीब पांच बजे मीडिया से बातचीत की. इस दौरान जब प्रियंका से पूछा गया कि क्या उनका मुकाबला प्रधानमंत्री मोदी से होगा? उन्होंने कहा, ‘मेरे से नहीं, राहुल जी से उनका मुकाबला होगा. राहुल लड़ तो रहे हैं.”

‘ये चीज़ें चलती रहेंगी’

वहीं पति रॉबर्ट वाड्रा से प्रवर्तन निदेशालय की पूछताछ पर भी प्रियंका ने चुप्पी तोड़ी. उन्होंने कहा, ‘ये चीज़े चलती रहेंगी, मैं अपना काम करती रहूंगी, मुझे बिल्कुल फर्क नहीं पड़ता.” मालूम हो कि इन दिनों वाड्रा से ईडी की टीम लगातार पूछताछ कर रही है. दिल्ली में ईडी की टीम ने उनसे लगातार तीन दिन पूछताछ की थी. मंगलवार को उनसे जयपुर में पूछताछ हुई. बुधवार को भी ईडी उनसे पूछताछ करनेवाली है.

इधर पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक को लेकर प्रियंका ने कहा कि यहां काफी बदलाव की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘मैं संगठन के बारे में सीख रही हूं. मैं लोगों की राय सुन रही हूं. आखिर चुनाव कैसे जीता जाए, इस पर भी बात हो रही है.’’

Related Posts

अमित शाह ने एनएसए डोभाल  के साथ कश्मीरियों की सहूलियतों  पर चर्चा की, अफवाहों को  कुचलने का निर्देश

हिंसा भड़काने के मकसद से  परोसी जा रही गलत खबरों और तरह-तरह की अफवाहों को कठोरता से कुचलने का निर्देश दिया गया.

SMILE

पुराने ढर्रे पर चलने से नहीं चलेगा काम

प्रियंका गांधी ने पूर्वांचल में पार्टी को चुस्त दुरुस्त करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं. इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि प्रियंका ने बगैर लंच व डिनर ब्रेक के यूपी के कार्यकर्ताओं से करीब 16 घंटे तक बातचीत की. और हालात का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से दो टूक कहा दिया कि पुरानी ढर्रे पर चल रही कांग्रेस से काम नहीं चलेगा. पार्टी को नई से शुरूआत करनी है और नए तेवर के साथ.

इसे भी पढ़ेंः जेएनयू : रिसर्च स्कॉलर पर दबाव ! हिंदी को सांप्रदायिक भाषा बताते हुए रिसर्च करें, मामला हाई कोर्ट…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: