Corona_UpdatesHEALTHJharkhandRanchi

कोरोना के इलाज में निजी अस्पताल नहीं कर सकेंगे मनमानी वसूली, कैपिंग रेट 8 से 18 हजार तय, घोषणा जल्द

विज्ञापन
  • स्वास्थ्य मंत्री के अस्पताल से बाहर आते ही लगेगी मुहर

Ranchi: राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में अब निजी अस्पताल मनमाना पैसा वसूल नहीं कर पायेंगे. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए कैपिंग दर निर्धारित कर दी है. इसकी फाइल मंजूरी के लिए स्वास्थ्य मंत्री के पास है जो अभी कोरोना संक्रमण के कारण अस्पताल में भर्ती हैं. उनके अस्पताल से ठीक होकर काम पर लौटते ही दरों को स्वीकृति मिल जायेगी.

सूत्रों की मानें तो निजी अस्पताल आइसोलेशन के सामान्य मरीजों से प्रतिदिन 8 हजार से अधिक नहीं वसूल सकेंगे. वहीं वेंटिलेटर के मरीजों से प्रतिदिन 18 हजार से अधिक प्रतिदिन नहीं वसूल सकेंगे. इसके अलावा बिना वेंटिलेटर के मरीजों को 14 हजार से अधिक की वसूली नहीं की जा सकेगी.

इसे भी पढ़ें – 1993 से प्रमोशन की राह देख रहे हैं झारखंड हाइस्कूल के 8000 शिक्षक

advt

अभी ये है निजी अस्पतालों का हाल

अभी राज्य के ज्यादातर निजी अस्पताल मरीजों से इलाज के बदले मनमाना पैसा वसूल रहे हैं. रांची के सभी बड़े अस्पताल मरीजों से औसतन 50 हजार की वसूली कर रहे हैं.

रामप्यारी अस्पताल में नॉर्मल मरीज के लिए प्रतिदिन 35 हजार का शुल्क है. पल्स घटा-बढ़ा तो यह 50 हजार तक हो सकता है. मेदांता अस्पताल में भी प्रतिदिन 50 हजार तक लिये जा रहे हैं. वहीं सैम्फॉर्ड अस्पताल में प्रतिदिन 60 हजार तक वसूले जा रहे हैं. मेडिका अस्पताल में भी गंभीर मरीजो के इलाज के लिए प्रतिदिन 65 हजार तक वसूले जा रहे हैं.

इसी को लेकर कोरोना संक्रमित मरीजों के परिजल लगातार हंगामा करते रहे. जिसके बाद सरकार ने कैपिंग दर निर्धारित करने का फैसला लिया है.

झारखंड में कैपिंग के बाद अधिकतम संभावित दर  

आइसोलेशन के सामान्य मरीज – 8000

adv

वेंटिलेटर –  18 हजार

नॉन वेंटिलेटर – 14 हजार

इसे भी पढ़ें – जमीन के फेर में उलझने लगी सामुदायिक शौचालय योजना, भूमि दान में लोगों की नहीं है रुचि

इन राज्यों में तय हैं दरें

दिल्ली

बिना वेंटिलेटर – 13 हजार से 15 हजार

आइसीयू वेंटिलेटर – 15 हजार से 18000

आइसोलेशन बेड – 8 हजार से 10 हजार

बिहार

आइसीयू (वेंटिलेटर रहित) – 12 हजार

आइसीयू (वेंटिलेटर सहित) – 14,400

हरियाणा

वेंटिलेटर – 15 हजार

बिना वेंटिलेटर -13 हजार

केरल

आइसीयू – 6500

वेंटिलेटर – 11500

तेलंगाना  

आइसीयू (बिना वेंटिलेटर) – 7500

आईसीयू (वेंटिलेटर) – 9000

महाराष्ट्र

आइसोलेशन – 4 हजार से 7 हजार

वेंटिलेटर – 9000

बिना वेंटिलेटर – 7500

इसे भी पढ़ें – अज्ञात महिला ने MLA राज सिन्हा को भेजा पत्र, कहा- आपको जान से मारने की दी गयी है सुपारी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button