Corona_UpdatesJharkhandRanchi

एडमिटेड और रिलीज किये गये मरीजों का डेटा फैसिलिटी ऐप पर अपडेट करें निजी अस्पताल: डीसी

  • डॉक्यूमेंटेशन से ज्यादा मानव जीवन का महत्व: डीसी
  • बेड की उपलब्धता, ICU, वेंटिलेटर आदि की ली जानकारी

Ranchi: रांची डीसी छवि रंजन की अध्यक्षता में समाहरणालय ब्लॉक ए स्थित उपायुक्त सभागार में रांची के सभी निजी अस्पताल संचालकों के साथ बैठक आयोजित की गयी. बैठक के दौरान रांची डीसी छवि रंजन ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए निजी अस्पतालों को व्यवस्था सुनिश्चित करने का निदेश दिया.

उन्होंने सभी निजी अस्पतालों से बारी-बारी बेड की उपलब्धता, आइसीयू, वेंटीलेटर आदि की जानकारी ली. निजी अस्पतालों के संचालकों और प्रतिनिधियों से उन्होंने कहा कि कोरोना फिर से पांव पसार रहा है.

इस बार पिछले साल की व्यवस्था से बेहतर करने का प्रयास करें. उन्होंने सभी निजी अस्पताल के संचालकों/प्रतिनिधियों को अस्पताल में एडमिट होनेवाले और डिस्चार्ज होनेवाले कोविड-19 मरीजों का डेटा फैसिलिटी ऐप में अपडेट करने का निदेश दिया.

बैठक के दौरान अनुमण्डल पदाधिकारी, रांची सदर समीरा एस ने कहा कि सभी निजी अस्पताल कोविड मरीजों के इलाज के लिए तय दर ही चार्ज करें.

साथ ही उन्होंने ठीक होनेवाले मरीजों का नाम, पता, मोबाइल नंबर और उम्र का भी ब्यौरा रखने का निदेश दिया ताकि प्लाज्मा की आवश्यकता होने पर संबंधित ठीक हुए मरीज से संपर्क किया जा सके.

उपविकास आयुक्त अनन्य मित्तल ने कहा कि सभी निजी अस्पताल मरीजों के इलाज के तय की गयी दर का पालन करें. स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसकी मॉनीटरिंग की जा रही है.

इसे भी पढ़ें :RANCHI: कोरोना संक्रमण को लेकर लोगों में सतर्कता बढ़ी, करा रहे हैं कोरोना टेस्ट

डॉक्यूमेंटेशन से ज्यादा मानव जीवन का महत्व

बैठक के दौरान डीसी ने कहा कि किसी भी मरीज का इलाज ससमय शुरू करें. जांच के नाम पर किसी की जान नहीं जानी चाहिए, डॉक्यूमेंटेशन से ज्यादा मानव जीवन का महत्व है.

कोरोना से संबंधित दिशा-निर्देशों का सावधानी से पालन करते हुए उपायुक्त ने मरीजों का इलाज करने का निदेश दिया. उपायुक्त ने कहा कि निजी अस्पताल, होटल के साथ समन्वय स्थापित कर टाइअप कर सकते हैं.

बैठक में उपविकास आयुक्त रांची अनन्य मित्तल, अनुमण्डल पदाधिकारी रांची सदर समीरा एस, अनुमण्डल पदाधिकारी बुण्डू उत्कर्ष गुप्ता, कार्यपालक दंडाधिकारी श्वेता वेद एवं विभिन्न निजी अस्पतालों के संचालक और प्रतिनिधि उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें :Ranchi: डेढ़ घंटे इंतजार करतीं रहीं मेयर आशा लकड़ा, बैठक में नहीं पहुंचे एक भी अधिकारी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: