West Bengal

आसनसोलः पैसे के लिए निजी अस्पताल ने मृत बच्चा-जच्चा को बताया जीवित, रेफर भी कर दिया

Asansol : अक्सर देश के निजी अस्पतालों के खिलाफ पैसे के लिए तरह-तरह की गड़बड़ी करने और मरीजों के जीवन के साथ खिलवाड़ करने के आरोप लगते आ रहे हैं. आसनसोल शहर से एक ऐसा मामला सामने आया है. जिसके बाद मेडिकल प्रोफेशन से आपका विश्वास उठ जाएगा.

यह मामला आसनसोल के एक निजी अस्पताल का है. जिसके चिकित्सकों और प्रबंधन पर मृत हो चुके गर्भवती महिला और उसके पेट में पल रहे बच्चे की मौत हो जाने के बाद भी उन्हें जीवित बताकर अस्पताल में भर्ती करने का आरोप है. घटना के कुछ घंटों के बाद अस्पताल प्रबंधन ने दोनों की हालत नाजुक बताते हुए उसे आसनसोल जिला अस्पताल में रेफर कर दिया. जिला अस्पताल में पहुंचते ही चिकित्सकों ने उन्हें काफी पहले ही मारे जाने की बात कही.

इसे भी पढ़ेंः चतरा : आम्रपाली कोल परियोजना पर CBI का छापा जारी, टेरर फंडिंग संबंधी दस्तावेजों की जांच

advt

क्या है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार आसनसोल उतर थाना के मेजियारा निवासी अरविंद मंडल ने अपनी बेटी रूमा मंडल (32) को प्रसव पीड़ा के बाद आसनसोल ईएसआई अस्पताल में भर्ती कराया. लेकिन ईएसआई अस्पताल के चिकित्सकों ने जांच के बाद रूमा मंडल और उसके पेट में पल रहे बच्चे को मृत घोषित कर दिया. पिता को इस पर शक हुआ. और वे अपनी बेटी को मृत घोषित किये जाने के बाद भी उसे आसनसोल के एक निजी अस्पताल में इलाज करवाने पहुंचे.

इस अस्पताल के डॉक्टरों ने न केवल बच्चा और उसकी मां की हालत गंभीर बताते हुए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया बल्कि उनसे एक मोटी रकम एडवांस के तौर पर अस्पताल में जमा करवाया. भर्ती कराए जाने के कुछ देर बाद ही अस्पताल ने महिला की हालत चिंताजनक बताते हुए उसे आसनसोल जिला अस्पताल में रेफर कर दिया.

इसे भी पढ़ेंः कोलकाताः एसटीएफ की टीम ने दिनाजपुर से तीन आतंकवादियों को दबोचा

जिला अस्पताल ने की मौत की तस्दीक

जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने जांच के बाद बताया कि दोनों की मौत बहुत पहले ही हो चुकी है. इस घटना के बाद एक बार फिर निजी अस्पतालों द्वारा मरीजों के साथ किए जाने वाले षड़यंत्र की बात सामने आयी है. आखिर कौन लगायागा इस पर लगाम यह है जनता का सवाल ?

adv

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीहः पारिवारिक कलह में सौतेले मामा ने की तीन वर्षीय भांजे की तालाब में डूबोकर हत्या

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button