Main SliderNational

#CAA के विरोध के कारण पीएम नरेंद्र मोदी का असम दौरा रद्द, खेलो इंडिया गेम्स का उद्धाटन करने जाने वाले थे

New Delhi :  देश में जारी सीएए पर विरोध का असर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रमों पर दिखने लगा है. सूचना है कि 10 जनवरी को गुवाहाटी में होने वाले खेलो इंडिया के उद्धाटन समारोह में मोदी शामिल नहीं हो पायेंगे. हालांकि न्यूज एजेंसी IANS के मुताबिक, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक नेता ने कहा है कि पीएम मोदी समय की कमी के कारण खेलो इंडिया के उद्धाटन समारोह में नहीं आ रहे हैं.

Jharkhand Rai

इधर पीटीआइ की खबरों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के असम में 10 जनवरी को तीसरे ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2020’ का उद्घाटन करने की संभावना नहीं है. उनके कार्यक्रम के विषय में भाजपा की असम इकाई को अब तक कोई सूचना नहीं मिली है.

इसे भी पढ़ेंः #CIC का निर्देश, इलेक्टोरल बॉन्ड के जरिये राजनीतिक दलों को चंदा देने वालों के नाम सार्वजनिक करे मोदी सरकार

प्रधानमंत्री कार्यालय को निमंत्रण भेजा गया था

भाजपा की प्रदेश इकाई के प्रवक्ता रूपम गोस्वामी ने बुधवार को पीटीआई-भाषा को बताया कि ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स’ का उद्घाटन करने के लिए मोदी को आमंत्रित करने के वास्ते प्रधानमंत्री कार्यालय को एक निमंत्रण भेजा गया था.

Samford

उनसे पूछा गया था कि क्या मोदी ने असम की अपनी यात्रा रद्द कर दी है, जिस पर गोस्वामी ने कहा, ‘‘ इस तरह की कोई बातचीत नहीं हुई कि प्रधानमंत्री खेलो इंडिया का उद्घाटन करने के लिए गुवाहाटी आ रहे हैं. प्रधानमंत्री को निमंत्रण भेजना एक औपचारिकता है. हमें प्रधानमंत्री कार्यालय से अपने निमंत्रण को लेकर कोई सूचना नहीं मिली है.’’

इसे भी पढ़ेंः दिल्ली में अमित शाह की रैली में CAA के विरोध में बैनर दिखानेवाली दो महिलाओं को घर से निकाला

असम में सीएए के विरोध में काफी प्रदर्शन हुए हैं

गौरतलब है कि असम में विवादित संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ काफी प्रदर्शन हुए हैं. विभिन्न संगठनों ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री उद्घाटन समारोह में आते हैं तो वे अपने प्रदर्शन को तेज कर देंगे.

मीडिया में इस तरह अटकलें थी कि क्या मोदी गुवाहाटी में यूथ गेम्स का उद्घाटन करने आएंगे या नहीं और क्या उन्होंने सीएए के खिलाफ प्रदर्शनों की वजह से अपनी यात्रा को रद्द कर दिया है. इस बीच, अधिकारियों ने बताया कि ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स’ के लिए समूचे देश से कई प्रतिभागियों ने यहां आना शुरू कर दिया है.

इसे भी पढ़ेंः सुप्रीम कोर्ट को #Citizenship_Amendment_Act  रद्द कर देना चाहिए, यह असंवैधानिक है : अमर्त्य सेन

 

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: