Main SliderNational

प्रधानमंत्री मोदी ने कृषि बिल पर विपक्ष पर तंज कसा, कहा-आजादी के बाद किसानों के नाम पर खोखले नारे लगते रहे

New Delhi :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के मौके पर भाजपा के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी के कार्यकर्ताओं के सेवाभाव की सराहना की साथ ही विपक्ष को भी आड़े हाथों लिया. प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट काल में पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लोगों की सेवा की. सेवा करते हुए कुछ कार्यकर्ता कोरोना से संक्रमित हो गये और कुछ की जान भी चली गई. लेकिन कार्यकर्ताओं ने इसके बावजूद अपना काम समर्पित होकर किया.

इसे भी पढ़ें :भारत ने पृथ्वी-2 मिसाइल का किया परीक्षण, ड्रैगन को मिलेगा जवाब

कृषि बिल पर विपक्ष पर बरसे प्रधानमंत्री

पीएम मोदी ने कहा कि कि कृषि बिल से छोटे किसानों को सबसे अधिक फायदा होगा. पीएम ने कहा कि अब किसान की मर्जी है कि वो कहीं पर भी फसल बेचे, जहां पर किसान को अधिक दाम मिलेगा वो वहां बेच सकेगा. बीजेपी के कार्यकर्ताओं को आसान भाषा में किसानों को समझाना होगा. पीएम मोदी ने कहा कि जिन्होंने किसानों से झूठ बोला, अब वो किसान के कंधे पर बंदूक रखकर चला रहे हैं. ये लोग झूठ फैलाकर किसान को बरगला रहे हैं.

उन्होंने कहा कि लोगों के जीवन में सरकार जितना कम दखल देगी, उतना बेहतर होगा. आजादी के कई साल बाद तक किसानों के नाम पर कई नारे लगे, लेकिन उनके नारे खोखले थे.

इसे भी पढ़ें :केएल राहुल के तूफान में उड़ा बेंगलुरू, 69 गेंदों में बनाये 132 रन

किसानों को कानूनों में उलझाकर रखा गया

कुछ लोगों ने राष्ट्रहित के बजाय खुद के हित को सर्वोपरि रखा. किसानों को कानूनों में उलझाकर रखा गया, जिसकी वजह से वो अपनी फसल कहीं बेच नहीं पा रहा था. पीएम ने कहा कि हमने MSP में रिकॉर्ड बढ़ोतरी की. अबतक एक लाख करोड़ रुपये से अधिक किसानों को दिए जा चुके हैं. पीएम ने कहा कि यूपीए सरकार ने सिर्फ 20 लाख करोड़ का ऋण किसानों को दिया था, लेकिन हमारी सरकार ने 35 लाख करोड़ से अधिक का लोन दिया.

इसे भी पढे़ं :कृषि विधेयकों के खिलाफ किसान संगठनों का भारत बंद आज, पंजाब हरियाणा सहित कई राज्यों में होगा असर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: