National

प्रधानमंत्री वित्तीय संकट को लेकर राज्यों को मदद देने के लिए वचनबद्ध नहीं हैं : नारायण सामी

Puducherry :  पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायण सामी ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों को आर्थिक सहायता देने को लेकर किसी तरह की प्रतिबद्धता नहीं जताई जबकि वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्हें आर्थिक दिक्कतों के बारे में बताया गया.

उन्होंने मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में हिस्सा लेने के बाद सोमवार रात यहां संवाददाताओं से कहा कि इसलिए, केंद्र शासित प्रदेश के पास वर्तमान वित्तीय संकट से उबरने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक से कर्ज लेने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता है.

इसे भी पढ़ेंः नोएडा के एक प्राइवेट अस्पताल के खिलाफ लापरवाही से मौत का मामला दर्ज, जांच के लिए बनी उच्च स्तरीय कमिटी

नारायण सामी ने कहा कि कोविड-19 के चलते मार्च से लागू लॉकडाउन के बाद से कारोबारी संस्थापनों, शराब की दुकानों और औद्योगिकी इकाइयों के बंद रहने के कारण राजस्व घटने की जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय को दी थी. उन्होंने कहा कि मार्च और अप्रैल के लिए प्रदेश सरकार के कर्मियों को वेतन दिया गया. लेकिन वर्तमान स्थिति खराब है और इसलिए एक रास्ता निकाला जाए.

इसे भी पढ़ेंः ‘कैप्टन कूल’ के नाम जाने जानेवाले धोनी के बारे में पूर्व क्रिकेटर गंभीर और इरफान ने आखिर क्या कहा

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री राज्यों को वित्तीय मदद देने को लेकर टाल-मटोल कर रहे थे और राज्यों को होने वाली आर्थिक दिक्कतों के अनुमान पर उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला.”

एक प्रश्न का उत्तर देते हुए नारायण सामी ने कहा कि उन्हें लगता है कि मोदी 17 मई के बाद भी लॉकडाउन बढ़ाएंगे लेकिन प्रतिबंधों में कुछ ढील दे सकते हैं. उन्होंने कहा, “असली तस्वीर 17 मई की रात को साफ होगी.”  प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से आगे की कार्रवाई के लिए 15 मई से पहले उन्हें विस्तृत रिपोर्ट भेजने को कहा है.

इसे भी पढ़ेंः बिजली फिकस्ड चार्जेज पर अब तक कोई फैसला नहीं, चेंबर सरकार से लगातार कर रही है मांग

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: