न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ 16 सूत्री मांगों को लेकर 31अगस्त को मुख्यमंत्री का घेराव करेगा

जनसंपर्क अभियान लगातार जारी है. संघ के अनुसार  इस बार आर पार की लड़ाई लड़ने को शिक्षक तैयार है.

84

Ranchi : अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ प्रदेश कार्यसमिति के आह्वान  पर  16 सूत्री मांगों के समर्थन में राज्य के सभी जिला व प्रखंडो से प्राथमिक व मध्य विद्यालय के शिक्षक रांची में 31अगस्त को मुख्यमंत्री का घेराव करेंगे. यह जानकारी संघ  ने दी. घेराव कार्यक्रम में शिक्षको की संख्या ज्यादा से ज्यादा हो, इसको लेकर जिलो व प्रखंडो में बैठक की गयी.  कहा गया कि इसे लेकर जनसंपर्क अभियान लगातार जारी है. संघ के अनुसार  इस बार आर पार की लड़ाई लड़ने को शिक्षक तैयार है. कहा कि हिटलरशाही रवैये का विरोध, आत्मसम्मान की रक्षा तथा मांगों के समर्थन में शिक्षक किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं.

इसे भी पढ़ें : दुमका : बिजली विभाग का झूठ पकड़ाया, बिना कनेक्शन दिये जनसंवाद को लिखा- गांव में जल रही बिजली

Aqua Spa Salon 5/02/2020

आश्वासन से तंग आकर आंदोलन के दूसरे चरण में घेराव

संघ के प्रदेश अध्यक्ष बिजेंद्र चौबे , महासचिव राममूर्ति ठाकुर व मुख्य प्रवक्ता नसीम अहमद ने कहा कि शिक्षकों की समस्याओं के समाधान के प्रति सरकार की उदासीनता और बार बार के आश्वासन से तंग आकर आंदोलन के दूसरे चरण में घेराव किया जा रहा है. शिक्षक ट्रैन ,बसों से राजधानी आयेंगे और अपनी आवाज बुलंद करेंगे. बात नही बनी तो आंदोलन के तीसरे चरण की घोषणा 31 अगस्त को होगी. कहा कि मुख्य सचिव द्वारा 31 अगस्त 2018 की वार्ता और 13 दिसम्बर 2018 को विभागीय शिक्षा सचिव झारखण्ड सरकार से लिखित समझौते के बाद भी शिक्षकों की समस्याओं का ज्यों का त्यों रहना स्थिति की भयावहता को दर्शाता है.

झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ की मांगें

बीस वर्षो से लंबित प्रमोशन  मिले, प्रक्रियाधीन प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति सह प्रोन्नति नियमावली 2019 में सुधार किया जाये, प्रस्तावित शिक्षक स्थानांतरण नियामवली 2019 में  शिक्षकों के गृह जिले में स्थानांतरण पर से रोक हटायी जाये,  इस के कारण सात हजार महिला व पुरुष शिक्षक प्रभावित है. कहा गया कि पूर्व नियमावली में गृह जिले में स्थानांतरण की सुविधा थी.  इसके अलावा प्रधानाध्यापकों के 3296 रिक्त  पदों को भरे जाने, योजना को गैर योजना में बदलने, उर्दू शिक्षकों का अनियमित वेतन भुगतान की समस्या का निपटारा करने, -पुरानी पेंशन को लागू करने, -कामर्स  शिक्षको को प्रमोशन देने, उत्क्रमित मध्य विद्यालयो में स्नातक प्रशिक्षित एवं प्रधानाध्यापको का पद सृजन किये जाने की मांग शामिल है.

इसे भी पढ़ें : दुमका : बिजली विभाग का झूठ पकड़ाया, बिना कनेक्शन दिये जनसंवाद को लिखा- गांव में जल रही बिजली

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like