Corona_UpdatesLead NewsNationalWorld

कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच को लेकर चीन पर दबाव बढ़ा

New Delhi: कोरोना वायरस पूरी दुनिया में कोहराम मचा रहा है. कोरोना के नए-नए म्यूटेंट सामने आ रहे हैं जो लोगों के लिए मुसीबत का सबब बन रहे हैं.

इन सब के बीच कोरोना की महामारी की शुरुआत जिस चीन से हुई थी वह एकबार फिर से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर घिरता नजर आ रहा है. दुनियाभर के वैज्ञानिक कोरोना महामारी की जड़ में जाने के लिए और अधिक स्पष्टता की मांग कर रहे हैं.

advt

इसे भी पढ़ें:राज्य के 32 लाख से अधिक स्टूडेंट्स के खाते में सीधा जायेगा मिड डे मील का पैसा

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने 90 दिन में जांच कर रिपोर्ट देने को कहा हैः

कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच को लेकर चीन पर दबाव बढ़ रहा है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने खुफिया विभाग से 90 दिन में कोरोना की उत्पत्ति को लेकर जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी संकेत दिए हैं कि कोरोना की उत्पत्ति को लेकर जांच जल्द ही फिर से शुरू की जा सकती है.

प्रो पेत्रोवस्की ने कहा कि चीन ने दुनिया के वैज्ञानिक समुदाय को धोखा दिया था. बोल्ट ने कहा कि अब वास्तव में ऐसा लग रहा है कि यह वायरस शायद चीन की उस लैब से निकला है और अब चीन के पसीने छूट रहे हैं.

इसे भी पढ़ें: क्या सरकार से भिड़ने के मूड में छोटी चिड़िया, ट्विटर, इंडिया चीफ के ट्वीट का क्या है मायने

एक स्थानीय अखबार ने प्रो पेत्रोवस्की के हवाले से लिखा है कि कुछ चीनी वैज्ञानिकों ने यह कहा है कि कोरोना की उत्पत्ति पैंगोलिन से हुई है लेकिन ऐसा होने की संभावना बिल्कुल भी नहीं है.

उन्होंने कहा कि हर कोई पैंगोलिन पर उंगली उठाने की कोशिश कर रहा है लेकिन मुझे लग रहा है कि इस वायरस के पैंगोलिन से आने की संभावना नहीं है. अधिकतर वायरोलॉजिस्ट भी अब यह स्वीकार करते हैं.

प्रो पेत्रोवस्की ने कहा है कि पैंगोलिन और कोरोना में स्पाइक प्रोटीन के बीच समानता है और इसे संदिग्ध माना जा सकता है. गौरतलब है कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना को चीनी वायरस कहा था और इसके लिए सीधे-सीधे चीन को जिम्मेदार ठहराया था.

बता दें कि कोरोना वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई थी. चीन के वुहान से फैले कोरोना ने दुनियाभर में कोहराम मचाया. इस वायरस के लैब में तैयार होने की अटकलें भी लगती रही हैं.

इसे भी पढ़ें :Vaccination Update :  वो दिन दूर नहीं जब कोविशिल्ड लगवानेवाले भी ले सकेंगे कोवैक्सीन

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: