Lead NewsNationalTOP SLIDER

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति का संबोधन, कहा- कोरोना के खिलाफ असाधारण दृढ़-संकल्प पर गर्व

New Delhi : देश 73वां गणतंत्र दिवस मनाने जा रहा है. उससे पहले मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर देश को संबोधित किया. राष्ट्रपति कोविंद ने अपने संबोधिन की शुरुआत देश और विदेश में रहने वाले सभी भारतीयों को बधाई देते हुए की. उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस हम सबको एक सूत्र में बांधने वाली भारतीयता के गौरव का यह उत्सव है.

राष्ट्रपति ने कहा कि गणतंत्र दिवस का ये दिन उन महानायकों को याद करने का अवसर भी है, जिन्होंने स्वराज के सपने को साकार करने के लिए अतुलनीय साहस का परिचय दिया और उसके लिए देशवासियों में संघर्ष करने का उत्साह जगाया. इस मौके पर राष्ट्रपति ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस को भी याद किया.

इसे भी पढ़ें:पटना की सड़कों पर छात्रों का प्रदर्शन, लाठीचार्ज में कई घायल

उन्होंने कहा, “दो दिन पहले, 23 जनवरी को हम सभी देशवासियों ने ‘जय-हिन्द’ का उद्घोष करने वाले नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 125वीं जयंती पर उनका पुण्य स्मरण किया है.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, “मुझे यह कहते हुए गर्व का अनुभव होता है कि हमने कोरोना-वायरस के खिलाफ असाधारण दृढ़-संकल्प और कार्य-क्षमता का प्रदर्शन किया है.” उन्होंने साथ ही कहा, “अनगिनत परिवार, भयानक विपदा के दौर से गुजरे हैं.

इसे भी पढ़ें:अविनाश पांडेय होंगे झारखंड प्रदेश कांग्रेस प्रभारी

हमारी सामूहिक पीड़ा को व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं. लेकिन एकमात्र सांत्वना इस बात की है कि बहुत से लोगों की जान बचाई जा सकी है.”

राष्ट्रपति ने कहा, “कोविड महामारी का प्रभाव अभी भी व्यापक स्तर पर बना हुआ है, अतः हमें सतर्क रहना चाहिए और अपने बचाव में तनिक भी ढील नहीं देनी चाहिए. हमने अब तक जो सावधानियां बरती हैं, उन्हें जारी रखना है.

इसे भी पढ़ें:भाजपा ने एक बार फिर की जेपीएससी चेयरमैन को बर्खास्त करने की मांग

Advt

Related Articles

Back to top button