BusinessJharkhandRanchi

निवेश शुरू करने के लिए वर्तमान समय सबसे उपयुक्त समय होता है : सीए प्रवीण शर्मा

Ranchi :  दी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की कैपिटल मार्केट और इन्वेस्टमेंट प्रोटेक्शन कमिटी नयी दिल्ली के द्वारा आज इन्वेस्टर सुरक्षा जागरूकता विषय पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया.

इस सेमिनार में वरिष्ठ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स सीए प्रवीण शर्मा ने कहा कि हर व्यक्ति को अपने भविष्य की सुरक्षा और जरूरतों को देखते हुए कुछ न कुछ अपने आय से निवेश करना चाहिए और निवेश के लिए आज सबसे उपयुक्त समय होता है. निवेश के विभिन्न साधनो जैसे कैपिटल मार्केट, बैंको की फिक्स्ड डिपाजिट स्कीम, सोना और चांदी, फोरेक्स, क्रिप्टो करेंसी की विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि किसी भी चीज में निवेश से पहले इस निवेश में सम्बंधित जोखिम, मुद्रास्फीति का असर, अवधी और अपने निवेश को निकालने सम्बंधित कठिनाइयों पर ध्यान देना आवश्यक है.

साथ ही यदि शेयर मार्केट में निवेश कर रहे हैं तो हमें जिस भी कंपनी के शेयर में निवेश करना हो उसके बैलेंस शीट, कंपनी का व्यवसाय और इसके प्रतिस्पर्धी कंपनियों से इसके आय व्यय और व्यवसाय कि तुलना करना आवश्यक है.

 

Sanjeevani

उन्होंने कहा कि अपने उम्र के अनुसार अपने निवेश का प्लान और जोखिम लेने की क्षमता पर भी ध्यान रखना चाहिए. सीए प्रवीण शर्मा ने जनता के निवेश की सुरक्षा हेतु सरकार के द्वारा की गयी उपायों पर भी चर्चा किया .

इस कार्यक्रम की शुरुआत में इंस्टिट्यूट के रांची शाखा के अध्यक्ष सीए प्रभात कुमार ने कहा कि आज के समय अपने भविष्य के जरूरतों को ध्यान में रखकर कुछ न कुछ निवेश जरूर करते रहना चाहिये, साथ ही हर किसी को सिर्फ एक आय के श्रोत पर निर्भर नहीं रहना चाहिए और कहा कि आज का सेमिनार से हमें निवेश के लिए और निवेश से सम्बंधित जोखिमों के बारे में काफी कुछ सीखने को मिलेगा.

इस सेमिनार में इंस्टीट्यूट के रांची शाखा के उपाध्यक्ष सीए पंकज मक्कड़, कोषाध्यक्ष सीए हरेन्दर भारती, सीपीइ कमिटी की उपाध्यक्षा सीए श्रद्धा बागला और सीए स्टूडेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सीए निशांत मोदी भी उपस्थित थे.

इस सेमिनार का संचालन श्रेया तिवारी ने किया.इस सेमिनार में कूल 110 से ज्यादा विधार्थी, चार्टर्ड एकाउंटेंट्स और अन्य लोग उपस्थित थे.

 

इसे भी पढ़ें : AG Report: जिला अस्पतालों में 57 प्रतिशत तक बढ़े मरीज, फंड के बावजूद नहीं बढ़ाए गए बेड और मेनपावर

Related Articles

Back to top button