न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अयोध्या का माहौल गर्म, धर्मसभा की तैयारी पूरी, दो लाख लोग जुटेंगे, सीएम ने बैठक की

धर्मसभा में शामिल लोग सरकार से राम मंदिर के मुद्दे पर अध्यादेश लाने की मांग कर रहे हैं. संतों का कहना है कि यह धर्मसभा हिंदू समुदाय के भावनाओं को सरकार तक पहुंचाने के उद्देश्य से आयोजित की गयी है.  

41

Lucknow : अयोध्या में आयेाजित विश्व हिंदू परिषद की धर्मसभा में देशभर से दो लाख से अधिक लोगों के शामिल होने की संभावना जतायी गयी है. धर्मसभा में कई संत और हिंदू संगठनों के पदाधिकारी शामिल होंगे. धर्मसभा का आयेाजन भक्तमाल मैदान पर राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर किया जा रहा है.  धर्मसभा में शामिल लोग सरकार से राम मंदिर के मुद्दे पर अध्यादेश लाने की मांग कर रहे हैं. संतों का कहना है कि यह धर्मसभा हिंदू समुदाय के भावनाओं को सरकार तक पहुंचाने के उद्देश्य से आयोजित की गयी है.  धर्मसभा के लिए देशभर से राम मंदिर निर्माण के समर्थक अयोध्या पहुंच रहे हैं. सभा को देखते हुए  अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं   वहीं संतों का कहना है कि यह धर्मसभा पूरी तरह से धार्मिक है  विहिप की धर्मसभा के मद्देनर शहर में हुई सुरक्षा के पहरे से अयोध्यावासी भी सहमे हुए हैं . दोपहर 12 बजे से विहिप की विराट धर्मसभा होनी है.  ऐसे में रामनगरी का माहौल सुबह से गरम हो रहा है. अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद के तत्वाधान में होने वाली धर्मसभा के लिए पूरी तैयारी कर ली गयी है.  कार्यक्रम का आयोजन नगर के रामघाट चौराहा स्थित बगिया पर होगा.

10 हजार बाइक, आठ हजार कार, छह हजार बसों से रामभक्त आयेंगे

धर्मसभा की शुरुआत सुबह 11 बजे होगी.  एक घंटे तक संगीत कार्यक्रम होगा.  दोपहर 12 बजे संतों व विहिप के पदाधिकारियों का उद्बोधन शुरू होगा. रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास, हरिद्वार के महंत सत्यनिष्ठा जी महाराज, चित्रकूट धाम के महंत श्री राम भद्राचार्य जी महाराज और विहिप के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय सभा सम्बोधित करेंगे.  उद्बोधन का कार्यक्रम शाम चार बजे तक चलेगा.  कार्यक्रम के लिए कुल 15 पार्किंग स्थल बनाए गए हैं. कार्यक्रम में करीब 10 हजार बाइक, आठ हजार कार, छह हजार बसों से रामभक्त आयेंगे.  अऩ्य ट्रेनों से आयेगे. अयोध्या में राममंदिर निर्माण को लेकर विश्व हिन्दू परिषद की आज होने वाली धर्मसभा में साधु-संतों और रामभक्तों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्रदेश सरकार लगातार चौकसी बरत रही है .

धर्मसभा पर लगातार निगहबानी कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देर रात प्रशासनिक और पुलिस आला अफसरों की बैठक बुलाई.  कई दिनों से मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थ में प्रचार करने के बाद अयोध्या में कानून-व्यवस्था की समीक्षा कर रहे हैं.  पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह और एडीजी (कानून-व्यवस्था) आनन्द कुमार अयोध्या भेजे गये वरिष्ठ आईपीएस अफसरों से लगातार संपर्क हुए हैं .

रामलला के दर्शन : रामलला के दर्शन के लिए पहले से निर्धारित व्यवस्थाओं के तहत ही दर्शनार्थियों को प्रवेश दिया जायेग .  अयोध्या में धारा-144 लागू है.  इसके पालन के लिए भीड़ को एक जुट होने से रोका जायेगा .  जगह-जगह बेरीकेडिंग की गयी है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: