HEALTHJharkhandRanchi

सैम्फोर्ड अस्पताल में प्रीमेच्योर बच्ची को मिली नयी जिंदगी

विज्ञापन

Ranchi: रांची के सैम्फोर्ड अस्पताल में एक प्रीमेच्योर बच्ची का जन्म हुआ था. पलामू की खुशबू नामक युवती का प्रसव 25वें सप्ताह में ही कराया गया था. नवजात का वजन 800 ग्राम था.

इसके बाद आयुष्मान भारत के तहत डेढ़ महीने तक नवजात को नियोनाटोलॉजिस्ट डॉ प्रतीक सिन्हा के देखरेख में भर्ती कराया गया था. शुरुआत में बेबी के सारे ऑर्गन लंग्स, हार्ट, ब्रेन, किडनी और इंटेस्टाइन फंक्शन नहीं कर रहे थे.

ऐसे में बेबी को आर्टिफिशियल सपोर्ट में रखना जरूरी हो गया था. काफी परिश्रम के बाद बच्चे को नयी जिंदगी मिली है. बच्चे का वजन अब 800 ग्राम से बढ़कर 1600 ग्राम हो गया है.

advt

इसे भी पढ़ें – सांसद निशिकांत दुबे पर फर्जी डिग्री के आरोप में मामला दर्ज, पत्नी और उनपर अबतक 4 FIR

30 प्रतिशत बच्चे ही इस अवस्था में बच पाते हैं

डॉ प्रतीक एवं सारे नर्सिंग स्टाफ के लिए इस अनमोल बच्चे को बचाना एक चुनौतीपूर्ण कार्य था. नवजात की मां के इससे पहले चार बच्चों की मृत्यु जन्म के समय ही हो गयी थी. डॉक्टर प्रतीक ने बताया कि सिर्फ 30% बच्चे ही इस अवस्था में बच पाते हैं जिस कारण डॉक्टर और हॉस्पिटल ऐसे बच्चों को भर्ती नहीं करते हैं. सैम्फोर्ड अस्पताल का नवजात यूनिट सारी सुविधाओं से प्रयुक्त है और इलाज संभव है.

इसे भी पढ़ें – NREP कार्यालय में 10 करोड़ के टेंडर का घोटाला, डीसी की जानकारी के बिना निकाले गए 40 टेंडर

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button