JharkhandRanchi

इंस्टीच्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया रांची शाखा के निर्विरोध अध्यक्ष चुने गये प्रवीण शर्मा

विनीत अग्रवाल उपाध्यक्ष और प्रभात कुमार सचिव मनोनीत

Ranchi : दी इंस्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया, रांची शाखा के पदाधिकारियों का वर्ष 2021-22 के लिए चुनाव संपन्न हुआ. इसमें सीए प्रवीण शर्मा को इंस्टिट्यूट की रांची शाखा का अध्यक्ष निर्विरोध चुना गया.

इसके अलावा सीए विनीत अग्रवाल को उपाध्यक्ष सह कोषाध्यक्ष और सीए प्रभात कुमार को सचिव चुना गया‌. कार्यकारिणी के अन्य सदस्यों में सीए पंकज मक्कड़, सीए निशा अग्रवाल , सीए मनीषा बियानी और सीए संदीप जालान शामिल हैं.

गौरतलब है कि दी इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया, रांची ब्रांच के सदस्यों में लगभग ग्यारह सौ सदस्य (चार्टर्ड एकाउंटेंट्स) और लगभग पांच हज़ार सीए के विधार्थी हैं. प्रवीण शर्मा अध्यक्ष के रूप में इस महत्वपूर्ण पद पर आसीन होने वाले 28वें व्यक्ति हैं. इससे पूर्व वे रांची के सचिव और उपाध्यक्ष पद संभाल चुके है.

इसे भी पढ़ें : बंगाल समेत 5 राज्यों में विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान, 27 मार्च से डाले जायेंगे वोट

विदेश में भी काम कर चुके हैं प्रवीण शर्मा

सीए प्रवीण शर्मा 2002 में सीए कोर्स उत्तीर्ण कर सीए प्रोफेशन से जुड़े . वे एक चार्टर्ड अकाउंटेंट के रूप में कुछ साल विदेश में भी अपनी सेवायें दे चुके हैं. पूर्व में इन्होने रांची में कई सेमिनार और अखिल भारतीय कांफ्रेंस आयोजित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

खेलों में भी रूचि रखते हैं

इसके साथ ही खेलों में रूचि रखने वाले सीए प्रवीण शर्मा ने रांची में चार्टर्ड एकाउंटेंट्स प्रीमियर लीग के शुरुआत करने, साइकिलिंग मैराथन, फुटबाल मैच आदि के आयोजन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

नवनियुक्त अध्यक्ष सीए प्रवीण शर्मा ने इस प्रतिष्ठित पद के लिए समर्थन देने के लिए सभी कार्यकारिणी सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किये .

सीए प्रवीण शर्मा के रांची शाखा के अध्यक्ष बनने पर निवर्तमान अध्यक्षा सीए मनीषा बियानी, पूर्व अध्यक्ष सीए बी के बंका,सीए जे पी शर्मा, उदय जायसवाल सहित काफी संख्या में चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ने बधाई देते हुए आशा प्रकट की है कि उनके कुशल नेतृत्व में रांची शाखा निरंतर प्रगति पथ पर अग्रसर होता रहेगा.

इसे भी पढ़ें : शेयर बाजार हुआ धड़ाम, सेंसेक्स 2100 अंक गिरा, निवेशकों के 5 लाख करोड़ रुपये डूबे

Related Articles

Back to top button