Court News

प्रभुनाथ सिंह को पैरोल की याचिका वापस लेने की अनुमति मिली

Ranchi : झारखंड हाइकोर्ट के जस्टिस संजय कुमार द्विवेदी की अदालत ने बिहार के मसरख विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा काट रहे पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की ओर से पैरोल को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई की. अदालत ने मामले की सुनवाई के दौरान प्रार्थी के आग्रह को स्वीकार करते हुए याचिका वापस लेने की अनुमति प्रदान की. इससे पूर्व प्रार्थी की ओर से अधिवक्ता हेमंत कुमार सिकरवार ने पक्ष रखा. उनकी ओर से याचिका वापस लेने के लिए अनुमति कोर्ट से मांगी गयी थी.

आरजेडी नेता एवं पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को हजारीबाग कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनायी थी. उनके अलावा उनके भाई दीनानाथ सिंह और पूर्व मुखिया रितेश सिंह को भी आजीवन कारावास की सजा सुनायी गयी है. अशोक सिंह की हत्या 3 जुलाई 1995 को पटना में उनके सरकारी आवास 5 स्टैंड रोड में बम मार कर कर दी गयी थी.

इसे भी पढ़ें:Sir Ratan Tata ने की थी पाटल‍िपुत्र में खुदाई के ल‍िए फंड‍िंग, म‍िला था राजा अशोक का स‍िंंहासन कक्ष, ये रही पूरी कहानी

ram janam hospital
Catalyst IAS

उस समय वो आरजेडी के मसरख विधानसभा क्षेत्र से विधायक थे. हत्या का मुख्य आरोपी प्रभुनाथ सिंह को बनाया गया. प्रभुनाथ सिंह को हरा कर ही अशोक सिंह मसरख से विधायक बने थे.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

अशोक सिंह मामले में गिरफ्तार प्रभुनाथ सिंह के छपरा जेल में रहते कानून व्यवस्था बिगड़ रही थी, जिसके चलते उनको हजारीबाग जेल शिफ्ट किया गया. उस समय झारखंड नहीं बना था. प्रभुनाथ सिंह के आवेदन पर ही हजारीबाग में इस केस का ट्रायल चला और 22 साल के बाद गुरुवार को अदालत ने फैसला सुनाया.

इसे भी पढ़ें:रिम्स में हेराफेरी: जन औषधि केंद्र में न बिल दे रहे हैं न ही एमआरपी पर छूट

Related Articles

Back to top button