न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लाइटअप के 31 घंटे बाद 70 दिनों से ठप पड़े पावर प्लांट से बिजली उत्पादन आरंभ

240

Bermo: बोकारो थर्मल स्थित डीवीसी के 500 मेगावाट के ए पावर प्लांट को लाइटअप के 31 घंटे बाद बुधवार को तड़के साढ़े पांच बजे यूनिट को लेाड में देकर बिजली उत्पादन का कार्य आरंभ किया गया. पावर प्लांट की यूनिट की मरम्मत का काम पूरा करने के 70 दिनों बाद सोमवार की रात्रि लगभग 11 बजे लाइटअप किया गया था. लाइटअप के बाद भी ब्यॉलर में थोड़ी गड़बड़ी के कारण प्रेशर एवं स्टीम के नहीं बन पाने के कारण यूनिट को लोड में नहीं दिया जा सका था. अंततः बुधवार की सुबह यूनिट को लोड में दिया जा सका और उत्पादन आरंभ हुआ.

22 अक्टूबर से ठप था उत्पादन

ए पावर प्लांट से बिजली का उत्पादन विगत् 22 अक्टूबर की दो बजे रात्रि से ही ठप था. पावर प्लांट के ब्यॉलर में रात्रि दो बजे ट्यूब लीकेज के बाद यूनिट को बंद किया गया था और तेल का टेम्प्रेचर डाउन करने के लिए स्टीम को ड्रेन किया गया. स्टीम ड्रेन करने के बाद भी टरबाईन का टेम्प्रेचर डाउन नहीं हो पा रहा था. टेम्प्रेचर डाउन नहीं हो पाने के कारण टयूब लीकेज की मरम्मत का काम नहीं किया जा सका था.

424 मेगावाट हो रहा बिजली उत्पादन

बोकारो थर्मल स्थित डीवीसी के ए पावर प्लांट से बुधवार की शाम 424 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जा रहा था. बी पावर प्लांट के 210 मेगावाट वाली तीसरी यूनिट से 135 मेगावाट यानी कुल 559 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जा रहा था. दूसरी ओर बुधवार की शाम को ही बोकारो थर्मल के अलावा डीवीसी के चंद्रपुरा, दुर्गापुर, अंडाल, मीजिया, कोडरमा, रघुनाथपुर पावर प्लांटों से कुल 4,321 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जा रहा था.

इसे भी पढ़ें – झारखंडियों को उजाड़ने के लिए हो रहा मंडल डैम का पुनः शिलान्यास : बाबूलाल मरांडी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: