JharkhandLead NewsRanchi

पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति पाने वाले छात्र अब 30 सितंबर तक कर सकते हैं आवेदन

Ranchi : अनुसूचित जनजाति-जाति अल्पसंख्यक व पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग झारखंड सरकार ने पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के आवेदन करने की तिथि बढ़ा दी है. आवेदन करने की अंतिम तिथि 16 से बढाकर 30 सितंबर तक कर दी गई है.

तिथि बढ़ाने की वजह

छात्रवृत्ति आवेदन करने की अंतिम तिथि जाति, आवासीय प्रमाण पत्र बनने में विलंब होने अभी तक संस्थानों के द्वारा कोर्स मैपिंग नहीं करने व शिक्षण संस्थानों के द्वारा अभी तक आवेदनों की वेरीफाइ करने में विलंब करने को लेकर बढ़ाई गई है. रांची जिला से अभी तक करीब चार हजार आवेदन आये हैं, जबकि कॉलेज व शैक्षणिक संस्थानों के द्वारा अभी तक करीब 29 सौ आवेदनों को कॉलेज स्तर पर वेरीफाई किया गया है.

इसे भी पढ़ें : सिविल सेवा परीक्षा में झारखंड का जलवा, टॉप-10 में धनबाद के यश जालूका और अपाला मिश्रा

advt

सत्र 2020-21 छात्रवृत्ति भुगतान करने के लिए आवेदन मांगे गए हैं

अल्पसंख्यक व पिछड़ा वर्ग के छात्रों से सत्र 2020-21 छात्रवृत्ति भुगतान करने के लिए आवेदन मांगे गए हैं. इसमें वैसे छात्रों को छात्रवृति का लाभ मिलेगा, जो इंटर से ऊपर उच्चतर शिक्षा विभिन्न मान्यता प्राप्त संस्थानों से ले रहे हैं. इस सत्र में कॉलेजों के द्वारा आवेदन सत्यापन करने की अंतिम तिथि 30 अक्तूबर तक निर्धारित थी.

adv

301 मान्यता प्राप्त विद्यार्थियों को मिलेगा लाभ

जिले में 301 मान्यता प्राप्त संस्थानों में अध्ययनरत छात्रों को पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति का लाभ मिलेगा. वर्तमान में 84 संस्थानों की जांच कर रिपोर्ट तैयार कर दी गई है. जांच में संस्थानों की अपनी बिल्डिंग है या नहीं, छात्रों को मिलने वाली सुविधाओं व छात्र अध्ययनरत हैं या नहीं सहित अन्य विषयों पर कल्याण विभाग के द्वारा जांच की जा रही है. इसके बाद ही वहां के छात्र को छात्रवृत्ति का लाभ मिल पाएगा. जिले में मौजूद 37 प्लस टू सरकारी विद्यालयों के प्राचार्या प्राचार्य ने पिछले साल रांची जिले में करीब एक लाख 2142 आवेदन प्राप्त हुए थे.

कोर्स अब तक अपडेट नहीं

ज्ञात हो कि विभाग के द्वारा एससी, एसटी, अब तक अपने विद्यालय का कोर्सअपडेट नहीं किया है. जिसमें उन्हें वाले नए, पुराने कोर्स की जानकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले हजारों छात्र कल्याण विभाग के ई पोर्टल के अपलोड करनी है. संस्थानों द्वारा छात्रवृत्ति जैसी सुविधा से वंचित माध्यम से संस्थानों में पढ़ाए जाने कोर्स अपडेट नहीं होने पर इन जाएंगे.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: