JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

पूजा सिंघल के Whats app चैट से बढ़ सकती है रांची डीसी की परेशानी!

Ranchi : पूजा सिंघल के चैट से रांची डीसी भी खनन लीज प्रकरण मामले में फंसते नजर आ रहे हैं. पूजा सिंघल ने अगस्त 2021 में खनन विभाग का चार्ज लिया. पत्थर खदान पट्टा देने में खनन विभाग की कोई भूमिका नहीं होती है. सारी जिम्मेदारी डीसी की होती है. डीसी की रजामंदी के बाद ही खनन पट्टा मिल सकता है. जैसा कि सीएम हेमंत सोरेने के साथ हुआ. रांची डीएमओ ने 10 जून 2021 को पट्टा जारी किया. जिसे स्वीकृति 30 जुलाई 2021 को दी गयी. जारी लाइसेंस को रद्द करने की प्रकिया शुरू हुई तो पूजा सिंघल की भूमिका नजर आ रही है.

ईडी जांच में आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल के मोबाइल से कई गोपनीय जानकारी मिली है. ईडी जांच में व्हाट्स एप चैट में लीज कैंसिल करने का ड्राफ्ट भी मिला है. पूजा सिंघल को 4 अगस्त 2021 को खान सचिव का प्रभार मिला था.

पदभार ग्रहण करने के बाद लीज को कैंसिल करने का ड्राफ्ट बतौर खान सचिव भेजा गया था. निलंबित आइएएस पूजा सिंघल का मोबाइल ईडी ने जब्त कर केंद्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला दिल्ली भेजा था. मोबाइल की जांच संबंधित रिपोर्ट मिलने के बाद नये-नये खुलासे हो रहे हैं.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ें:राज्यसभा सीट को लेकर सीएम से मिले कांग्रेसी, पेश की दावेदारी

जिला खनन पदाधिकारी से की गयी पूछताछ

ईडी ने गुरुवार को पाकुड़ के एमओ प्रदीप कुमार और दुमका के एमओ कृष्ण चंद्र किस्कू से पूछताछ की. एमओ के साथ-साथ आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल, सीए सुमन कुमार सिंह और अभिषेक झा से भी पूछताछ की गयी. सभी एमओ से आइएएस अधिकारी के सामने पूछताछ की गयी.

ईडी के अनुसार चार जिला खनन पदाधिकारियों के भ्रष्टाचार में लिप्त होने की जानकारी मिली है. चार जिले के एमओ ने अवैध खनन का पैसा अधिकारियों व सफेदपोशों तक पहुंचाया है.

इसे भी पढ़ें:भाषाई त्रुटियों के चलते राज्यपाल ने चार विधेयक लौटाये, अफसरों के हिंदी-अंग्रेजी ज्ञान पर उठ रहे सवाल

Related Articles

Back to top button