Sci & Tech

पोलनेट 2.0 : नियमित संचार सेवाएं बंद पर भी इस तकनीक से काम करेंगे मोबाइल और इंटरनेट

New Delhi :  केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने नयी दिल्ली में उन्नत पोलनेट 2.0 सेवा की शुरुआत की. जिसके साथ देश में पुलिस संचार सेवाएं मजबूत होने की संभावना है.

नये प्लेटफॉर्म पर शक्तिशाली मल्टीमीडिया सुविधाएं हैं और यह एक उपग्रह आधारित नेटवर्क है जो देशभर में खासतौर पर आपदाओं की स्थिति में वीडियो, ऑडियो और डेटा क

नेक्टिविटी मुहैया करायेगा. यह ऐसे समय में कारगर होगा जब नियमित संचार सेवाएं ठप हो जाती हैं.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ेंः #CAA : भाजपा ने कांग्रेस को मुस्लिम लीग कांग्रेस कहा,  अशोक चव्हाण बोले,  तुष्टीकरण हम नहीं करते, यह भाजपा का धंधा  

The Royal’s
Sanjeevani

राय ने यहां विज्ञान भवन में एक राष्ट्रीय सम्मेलन में सेवा का लोकार्पण करते हुए कहा, ‘‘पोलनेट 2.0 देश के लिए बड़ी उपलब्धि है और इस काम के लिए डीसीपीडब्लयू प्रशंसा का पात्र है. यह प्रणाली किसी भी मौसम में काम करेगी.’’

पोलनेट (पुलिस नेटवर्क सेवा) का संचालन करने वाले पुलिस वायरलैस समन्वय निदेशालय (डीसीपीडब्ल्यू) ने पुलिस और सुरक्षा बलों के लिए कानून व्यवस्था की समस्याओं तथा आपदाओं के समय के लिहाज से मजबूत संचार प्लेटफॉर्म विकसित किया है.

इसे भी पढ़ेंः #Dumka: रघुवर सरकार ने संताल धार्मिक मान्यता के विरुद्ध दी थी मंझी थान बनाने की स्वीकृति, हेमंत सरकार रोक लगाये-अखड़ा

वैज्ञानिकों ने दुनिया के सबसे पुराने क्रेटर को 2.229 अरब वर्ष का बताया

इधर ऑस्ट्रेलिया के पश्चिमी हिस्से में क्षुद्रग्रह के कारण बना क्रेटर 2.2 अरब वर्ष से अधिक समय पुराना है और इसे सबसे पुराना क्रेटर बताया जाता है.

पहली बार याराबब्बा क्रेटर के समय का गहन अध्ययन किया गया है. इस अध्ययन से पता चला है कि यह 2.229 अरब वर्ष पुराना है. इसका यह भी मतलब है कि धरती पर ज्ञात इसी तरह के किसी भी स्थान से यह 20 करोड़ वर्ष पहले का है.

वैज्ञानिकों को लंबे समय से संभावना थी कि याराबब्बा कई अरब वर्ष पुराना क्रेटर है . यह ऑस्ट्रेलिया के सुदूरवर्ती हिस्से में है.

हालांकि इसके समय का अंदाजा लगाने का काम इतना आसान नहीं था क्योंकि यह जगह सही तरीके से संरक्षित नहीं हो पाई है. भूकंप तथा अन्य भूगर्भीय हलचलों के कारण इसमें कुछ परिवर्तन आते गये.

इसे भी पढ़ेंः कोरोना वायरस: मृतकों की संख्या बढ़कर हुई नौ, WHO ने बुलायी आपात बैठक

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button