lok sabha election 2019

6 मई को मतदान, रांची में हैं 19,10, 955 मतदाता, तैयारी पूरी, 253 केंद्रों से वेबकास्टिंग

  • 22 महिला बूथ बनाये गये हैं
  • तिलता चौक से पंडरा मार्ग में आने-जानेवाले भारी वाहनों के मार्ग बदले गये
  • छह मई को सुबह छह बजे से तिलता चौक से पंडरा नहीं जा सकेंगे भारी वाहन

Ranchi: रांची संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं. क्षेत्र में कुल पुरुष वोटर 9 लाख 98 हजार 392 हैं. वहीं महिला वोटरों की संख्या 9 लाख 12 हजार 210 है. अन्य मतदाताओं की संख्या 53 है. उक्त जानकारी रांची जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीसी महिमापत रे ने प्रेस वार्ता के दौरान दी. डीसी ने कहा कि कुल मतदाताओं की संख्या 19 लाख 10 हजार 955 है. कुल मतदान केंद्र 2,376 हैं. जिसमें से सुपर जोनल मतदान केंद्र 8 हैं. जोनल में 51 मतदान केंद्रों को रखा गया है. 176 मॉडल बूथ बनाये गये हैं. सेक्टर 285 और कलस्टर में 143 बूथों को शामिल किया गया है. चुनाव के लिए 22 महिला बूथ बनाये गये हैं. जिनमें तीन रांची में, 8 कांके में और 11 हटिया में बनाये गये हैं.

देखें वीडियो-

इसे भी पढ़ें – आरबीआई ने विदेश में सोना शिफ्ट करने की प्रिंट और सोशल मीडिया की खबरों को खारिज किया

253 बूथों में लाइव वेबकास्टिंग

बूथों की जानकारी देते हुए डीसी ने कहा कि सभी पोलिंग बूथ फोन से कनेक्टेड होंगे. 2,376 बूथों में से 253 बूथों में बेवकास्टिंग की जायेगी. जिससे किसी तरह की संदिग्ध गतिविधि होने से तुरंत कार्रवाई की जा सकेगी. 54 कंट्रोल रूम बनाये गये हैं. दिव्यांगजनों को किसी तरह की परेशानी किसी भी बूथ पर नहीं होगी. इसके लिए दिव्यांगजनों के लिए वाहन, व्हील चेयर समेत अन्य तैयारियां बूथों पर की गयी है. वहीं तमाड़ में 303 पोलिंग बूथ बनाएं गये हैं. जिनमें से 7 जोनल और 7 माइक्रो आब्जर्वर जोन बनाया गया है. यहां 62 बूथों पर लाइव वेबकास्टिंग की जायेगी.

इसे भी पढ़ें – जमशेदपुरः बदहाली में जी रही सबर आदिम जनजाति को किसी दल ने नहीं बनाया चुनाव का मुद्दा

अड़की में 34 ईवीएम मशीनें भेज दी गयी हैं

डीसी ने जानकारी दी कि शनिवार को अड़की में 34 ईवीएम मशीनें भेज दी गयी हैं. बाकी सभी जगहों में कल तक मशीनें भेज दी जायेंगी. कई बार सुनने को मिल रहा है कि लोगों में वोटिंग टाइम को लेकर संशय है. ऐसे में यह स्पष्ट होना चाहिए कि वोटिंग सुबह सात बजे से चार बजे तक की जायेगी. चुनाव के लिए रिजर्व सभी वाहनों की जीपीआरएस ट्रैकिंग की जायेगी. साथ ही बताया गया कि शनिवार से चुनाव प्रचार समाप्त हो चुके हैं. अब पार्टियां सिर्फ घर-घर जा कर प्रचार कर सकती हैं. जबकि सड़कों से बैनर और पोस्टर शाम साढ़े चार बजे से हटाये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें – सैम पित्रोदा ने कहा, सही समय पर साथ आयेंगे विपक्षी दल, मोदी सरकार को सत्ता से हटाना हमारा मकसद

adv

भारी वाहनों के मार्ग बदले गये

वहीं एसएसपी अनीश गुप्ता ने कहा कि पंडरा जाने के लिए अलग अलग रूट तय किया गया है. चुनाव के बाद सभी वाहनों को सुरक्षित पंडरा स्थित स्ट्रांग रूम तक पहुंचाया जायेगा. सड़क में अचानक वाहनों की संख्या बढ़ जाती है, इसलिए यातायात मार्गों में कुछ परिवर्तन किये गये हैं. इसकी जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिए भारी वाहन, मालवाहकों और 407 वाहनों को छह मई को तिलमा चौक से पंडरा तक के सड़क मार्ग में सुबह छह बजे से ईवीएम मशीनों को पंडरा में जमा करने तक वर्जित किया जायेगा. इस दौरान ये वाहन दलादली चैक से होते हुए कांके की ओर जा सकते हैं. न्यू मार्केट चौक, पिस्का मोड़ से पंडरा जानेवाली बाजार समिति की भारी वाहनों, मालवाहकों और 407 वाहनों का रूट डायर्जन आइटीआइ या कटहल मोड़ की ओर से किया गया है. साथ ही उन्होंने जानकारी दी कि अति संवेदनशील जोनों में पुलिस और प्रशासन के वरीय अधिकारी मौजूद रहेंगे.

इसे भी पढ़ें – 5वां चरणः रांची, खूंटी, हजारीबाग और कोडरमा में थमा प्रचार का शोर, अब डोर-टू-डोर

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: