BiharLead News

आरआरबी- एनटीपीसी हंगामे को लेकर बिहार में राजनीतिक बयानबाजी हुई शुरू, कोचिंग संचालकों और छात्रों पर हुए FIR का कई पार्टियों ने किया विरोध

Patna : आरआरबी एनटीपीसी को लेकर पिछले दिनों बिहार में हुए हंगामे के बाद पटना पुलिस ने कोचिंग संचालकों और कई छात्रों पर एफआईआर दर्ज की है. इस मामले को लेकर गुरुवार को राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई है.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने इस पर आपत्ति जताई है और इससे छात्रों के और ज्यादा भड़कने की आशंका जताई है.वहीं पूर्व सांसद और जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने भी एफआईआर मामले में सख्त आपत्ति जताई है.वहीं एनएसयूआई ने छात्रों के समर्थन में देशभर में प्रदर्शन करने की घोषणा की है.

इसे भी पढ़ें : टाना भगत के जीवन स्तर का आकलन करेगी सरकार, फूलो झानो आशीर्वाद योजना से आये बदलाव की भी होगी समीक्षा

Catalyst IAS
ram janam hospital

पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने किया ट्वीट

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने ट्वीट कर लिखा है कि संविधान में हिंसा और तोडफोड़ का अधिकार किसी को नहीं है. वैसे अब वक्त आ गया है जब सरकार रोजगार के विषय में बात करे,नहीं तो हालात इससे भी भयानक उत्पन्न हो सकते हैं. उपद्रव के नाम पर खान सर सहित शिक्षकों पर किए गए मुकदमें इस अघोषित युवा आंदोलन को और भी ज्यादा भड़का सकता है.

इसे भी पढ़ें : नक्सलियों के झारखंड बंद का असर  : जमशेदपुर से दूसरे राज्यों और शहरों को जानेवाली बसें नहीं चलीं  

Related Articles

Back to top button