न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजनीतिक पार्टियां  EC को पत्र लिखे, ईवीएम से चुनाव होंगे, तो बहिष्कार करेंंगे : आप

संजय सिंह ने कहा कि इस खुलासे में मुख्य रूप से भाजपा को फायदा होते बताया गया है और असल में भी जब ईवीएम में गड़बड़ियां पकड़ी गयी हैं, उसमें भाजपा को ही फायदा जाता दिखाई दिया है.

47

NewDelhi : लोकतंत्र बचाने के लिए सभी पार्टियां चुनाव आयोग को पत्र लिखे और कहे कि अगर देश में ईवीएम से चुनाव होते हैं तो वह इन चुनावों का बहिष्कार करेगे.  यह कहना है आप नेता संजय सिंह का. बता दें कि ईवीएम हैकिंग के मुद्दे पर ताजा विवाद के बीच आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा है कि लोकतंत्र बचाने के लिए सभी पार्टियों को चुनाव आयोग को पत्र लिखना चाहिए और यह कहना चाहिए कि अगर देश में ईवीएम से चुनाव होते हैं तो वह इन चुनावों का बहिष्कार करेगे. संजय सिंह ने कहा कि इस खुलासे में मुख्य रूप से भाजपा को फायदा होते बताया गया है और असल में भी जब ईवीएम में गड़बड़ियां पकड़ी गयी हैं, उसमें भाजपा को ही फायदा जाता दिखाई दिया है.  उन्होंने कहा कि लोकतंत्र को बचाने के लिए अब वक्त आ गया है कि सभी पार्टियां एक होकर चुनाव आयोग को यह लिखकर दें कि कि ईवीएम को बैन किया जाये. कांग्रेस के यूपी चीफ राज बब्बर के अनुसार यह मामला गंभीर है. कहा है कि इसे लोगों में चुनाव को लेकर विश्वसनीयता कम हुई है.  सरकार यदि चाहती है कि लोगों की चुनाव में विश्वसनीयता बढ़े तो उसे इस मसले पर गंभीरता से विचार करना चाहिए.

हमसे ज्यादा आधुनिक देश ईवीएम का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं

बैलट से चुनाव करवायें जायें. कांग्रेस और आप के अलावा समाजवादी पार्टी ने भी एक बार फिर ईवीएम पर सवाल खड़े किये हैं;  सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा कि यदि हमसे ज्यादा आधुनिक देश ईवीएम का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो इसके पीछे जरूर कोई कारण होगा.  उन्होंने आरेाप ल्गाया कि लोकतांत्रिक संस्थानों को कमजोर करने का काम भाजपा कर रही हैं. सपा प्रमुख ने कहा, भाजपा इसके जरिए लोकतंत्र और विपक्ष की आवाज दबाने की कोशिश कर रही है. क्यों जापान जैसा अडवांस्ड देश ईवीएम का इस्तेमाल नहीं करता है. यह सवाल देश के 130 करोड़ लोगों के बीच उठाया जाना चाहिए.

hosp3

 भारत में इस्तेमाल की जाने वाली इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन सेफ हैं

बता दें कि एक साइबर एक्सपर्ट का दावा है कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को हैक किया जा सकता है.  लंदन में हुई हैकथॉन में साइबर एक्सपर्ट सैयद शुजा ने दावा किया कि भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे की 2014 में हत्या की गयी थी. सैयद शुजा का कहना है कि मुंडे इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को हैक करने के बारे में जानकारी रखते थे.   एक्सपर्ट ने यह भी दावा किया कि महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और गुजरात में भी धांधली हुई थी.  यहां तक कि शुजा का दावा है कि 2014 के आम चुनाव में भी ईवीएम में गड़बड़ी की गयी थी.  इस हैकथॉन में कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल भी मौजूद थे.  हालांकि इलेक्शन कमिशन ऑफ इंडिया ने कहा कि भारत में इस्तेमाल की जाने वाली मशीन पूरी तरह सेफ हैं.

इसे भी पढ़ें :  जयराम रमेश, कारवां के खिलाफ डोभाल के बेटे की मानहानि याचिका पर सुनवाई 30 को

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: