Crime NewsJharkhandLead NewsNEWSRanchiSahibganjTOP SLIDER

महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मौत मामले में क्राइम सीन रीक्रिएट करेगी पुलिस

गिरफ्तारी के बाद सब इंस्पेक्टर एसके कनौजिया निलंबित

Ranchi: साहिबगंज के महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए रांची फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला की टीम क्राइम सीन को जल्द रीक्रिएट करेगी. यह टीम घटना के हर पहलू पर गहराई से जांच करेगी. घटनाक्रम में पुलिस को मिले तथ्य को बारीकियों को जोड़कर एक रिपोर्ट तैयार करेगी. समझा जा रहा है कि उसके बाद ही इस मामले में दायर केस में न्यायालय में चार्जशीट दाखिल किया जाएगा.

 

advt

इधर, मामले में गिरफ्तार रूपा तिर्की के बैचमेट शिव कुमार कनौजिया को गिरफ्तार कर जेल भेजा दिया हैं. कनौजिया 2018 बैच के सब इंस्पेक्टर हैं. गिरफ्तारी के साथ ही चाईबासा पुलिस ने एसके कनौजिया को निलंबित कर दिया है. कनौजिया पश्चिमी सिंहभूम जिला में प्रोबेशन के दौरान वो गुवा थाना में भी काम कर चुके हैं. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 9 मई को साहिबगंज एसपी कार्यालय से सब इंस्पेक्टर शिव कुमार कनौजिया की गिरफ्तारी के संबंध में जानकारी दी गयी थी. उक्त पत्र के आलोक में कनौजिया को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. उसे स्पष्टीकरण किया जाएगा. विभागीय कार्यवाही की प्रक्रिया शुरू की गयी है.

 

साहिबगंज एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने आला अधिकारियों को पत्र लिखकर रूपा तिर्की की मौत की गुत्थी को सुलझाने के लिए फॉरेंसिक टीम से जांच कराने की आग्रह किया है. एसपी का कहना है कि कहीं कोई तथ्य छूट नहीं जाए, इसलिए अनुसंधान में खास सावधानी बरती जा रही है. पुलिस के अनुसार फॉरेंसिक टीम की रिपोर्ट मिलने के बाद केस डायरी चार्जशीट में जोड़ी जा सकेगी. पुलिस को उम्मीद है कि इसी सप्ताह टीम यहां पहुंचकर मौत से जुड़े घटनाक्रम के जरिये क्राइम सीन रीक्रिएट कर सकती है.

इसे भी पढ़ेंःनक्सली मंगरा चंपिया को पुलिस ने खदेड़ कर पकड़ा,लेवी वसूलने की बना रहा था योजना

 

जानकारी के अनुसार फॉरेंसिक टीम यहां पहुंच कर क्राइम सीन पर रूपा तिर्की के आत्महत्या से जुड़े तथ्यों को रीक्रिएट करेगी. फॉरेंसिक टीम रूपा तिर्की के ही कद- काठी एवं एवं वजन के पुतले को पंखे की कड़ी से वैसे ही रस्सी से लटका कर देखेगी, जिस तरह से रूपा तिर्की का शव लटका हुआ था. क्राइम सीन पर मिले सामानों को भी उसी तरह रखकर जांच की जाएगी

 

मालूम हो कि रूपा तिर्की रांची के रातू थाना अंतर्गत काठीटांड की रहने वाली थी. वह 2018 बैच के अवर निरीक्षक के रूप में बहाल हुई थी. अभी रूपा की शादी नहीं हुई थी. बीते दिन परिजनों को यह जानकारी दी गई कि उन्होंने खुदकुशी कर ली है. परिजनों ने तीन लोगों पर हत्या करने का आरोप लगाया था. बाद में लोगों ने सीबीआई जांच की मांग की थी.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में कोरोना संक्रमण के 4365 नये मरीज मिले, 7531 ठीक हुए , 103 की मौत

बताया जा रहा है कि साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की और बैचमेट शिव कुमार कनौजिया के बीच काफी दिनों से प्रेम संबंध था. रूपा तिर्की शिव से शादी करना चाहती थी लेकिन कनौजिया इसके लिये तैयार नहीं हो रहा था. माना जा रहा है कि इसी वजह से तनाव में आकर रूपा तिर्की ने 3 मई को अपने साहिबगंज स्थित सरकारी आवास में गले में रस्सी का फंदा डालकर खुदकुशी कर ली थी. पुलिस जांच में यह बात सामने आयी कि आत्महत्या वाले दिन रूपा के मोबाइल पर अंतिम कॉल शिव कुमार कनौजिया का ही आया था. इसके बाद साहिबगंज पुलिस ने मोबाइल की पड़ताल की तो सारे राज खुल गये.

 

मालूम हो कि तीन मई को साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी का शव सरकारी क्वार्टर में फंदे से लटकते हुए मिला था. परिजन द्वारा इस आत्महत्या को हत्या करार दिया और सीबीआई जांच की मांग कर रही हैं .परिजन ने आरोप लगाया हैं  की साथ मे काम कर रही महिला दारोगा ज्योत्स्ना और मनीषा  और मुख्यमंत्री सह विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा की साजिश है. रांची से लेकर साहिबगंज तक साथ ही सोशल मिडिया पर जस्टिस फोर रूपा तिरकी  को लेकर सीबीआई  जांच की मांग हो रही थी. हालांकि, प्रारंभिक जांच में इन तीनों को क्लीन चिट दे दी गई है.

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: