ChatraJharkhand

गर्भवती भाभी की हत्या के आरोपी डॉक्टर को पुलिस ने लिया रिमांड पर

पत्नी का हत्यारा पति गिरफ्तार, भेजा गया जेल

Chatra : गर्भवती भाभी की हत्या का आरोपी डॉक्टर प्रवीण को सदर थाना पुलिस ने रिमांड पर लिया है. यह रिमांड सोमवार की शाम में ही लिया गया है. सूत्रों की अगर मानें तो डॉक्टर प्रवीण ने पहले पुलिस को इधर उधर घुमाने का काफी कोशिश किया. परन्तु पुलिस की सख्ती के आगे वह टूट गया और हत्या के मामले में उसने कई राज खोले हैं. पुलिस ने बताया कि डॉक्टर के बड़े भाई प्रशांत को भी पुलिस ने रिमांड पर लिया है.

ज्ञात हो कि गर्भवती भाभी की हत्या के बाद बचने के लिए डॉक्टर के द्वारा कई उपाय किये गए परन्तु वह इस जघन्य पाप से नहीं बच सका.

इसे भी पढ़ें :झारखंड प्रशासनिक सेवा के दो पदाधिकारियों का तबादला

बताया जाता है कि डॉ प्रवीण के द्वारा अपनी भाभी की हत्या करने के बाद उस आरोप से बचने के लिए बिना पीड़िता को अस्पताल लाये सदर अस्पताल के चिकित्सक को धोखे में रखकर न सिर्फ रेफर करवा लिया. बल्कि कोरोना जांच का पुर्जा सदर अस्पताल में बनवाकर खुद अपने हांथों से कोरोना पीसीटीभ लिख दिया.

इतना ही नहीं डॉ प्रवीण ने अपने द्वारा लिखे गए उस पोसिटीभ रिपोर्ट को सही साबित करने के लिए अपने घर में रखे चिकित्सा पदाधिकारी का मोहर भी मार दिया. इतने पर भी उसे संतुष्टि नहीं मिली तो साक्ष्य को छुपाने के उद्देश्य से गया ले जाकर शव का दाह संस्कार कर दिया.

इसे भी पढ़ें :मंत्री रामेश्वर उरांव ने की स्कूलों को खोले जाने की वकालत, कहा- बच्चों की पढ़ाई न हो बर्बाद

परिजनों ने मृत महिला के पति पर दहेज उत्पीड़न का लगाया था आरोप

इधर, प्रतापपुर थाना क्षेत्र के बभने पंचायत के रब्दा गांव में कथित तौर पर दहेज उत्पीड़न से तंग आकर एक महिला ने नौ महीना पूर्व अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. महिला के परिजनों ने उसके ससुराल वालों पर दहेज के लिए उत्पीड़न करने और उसकी हत्या करने का आरोप लगाया है. पुलिस के मुताबिक प्रतापपुर थाना क्षेत्र के रब्दा गांव के संजीत भारती पिता मिट्ठू भारती को जेल भेज दिया गया.

इसे भी पढ़ें :बिहार में कोरोना की रफ्तार तेज, 4551 नए मामले आए सामने , पटना में 1218 केस मिले

पूरा मामला है कि बीते नौ महीना पूर्व संजीत भारती अपनी पत्नी को उत्पीड़न करता था जिसके वजह से उसकी पत्नी फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली थी.

महिला के परिजनों द्वारा आरोप लगाया गया था जिस पर पुलिस जांच कर जेल भेज दिया. वही मृत महिला के परिजनों का कहना है कि उसके ससुराल वाले दहेज की मांग को लेकर लगातार उसे परेशान करते थे और उन्होंने ही हमारी बेटी की हत्या की है. पुलिस ने मृत महिला के पति के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच करने के बाद जेल भेज दिया.

इसे भी पढ़ें :BJP को राज्य में झारखंड में गति शक्ति योजना के साकार होने पर शंका

Advt

Related Articles

Back to top button