Bihar

पर्यटन विभाग के खाते से 9.8 लाख की हेराफेरी मामले में पुलिस के हाथ अब भी खाली

रांची से जुड़े हैं तार

Patna : पर्यटन विभाग के खाते से राशि की हेराफेरी मामले में पुलिस के हाथ ढाई माह बाद भी खाली हैं. अपराधी गिरफ्त से दूर हैं. गौरतलब है कि किसी ने क्लोन चेक से पर्यटन विभाग के खाते से 9.80 लाख की हेराफेरी कर ली थी. यह राशि रांची के बरियातू स्थित एक बैंक में स्थानांतरित की गयी थी. पुलिस छानबीन में पता चला है कि उक्त खाता फर्जी दस्तावेज पर खुलवाया गया था. लिहाजा स्थानीय स्तर पर जांच के बाद ही आरोपित को दबोचा जा सकता है. इसकी जांच के लिए पटना पुलिस की एक टीम रांची जानेवाली थी. लेकिन इस बारे में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के आदेश का इंतजार है. 1 जून को पर्यटन विभाग के खाते से 9.80 लाख रुपये की हेराफेरी कर ली गयी थी. विभाग का बोरिंग रोड स्थित बैंक आफ बड़ौदा की शाखा में खाता है. रुपये का स्थानांतरण क्लोन चेक से किया गया था.

इसे भी पढ़ें – ‘बिरूओं’ से परेशान रही पुलिस, कोई दारू तो कोई अच्छा खाने के लिए चढ़ा टावर पर

पर्यटन विभाग ने दर्ज करायी थी शिकायत

ram janam hospital
Catalyst IAS

इस संबंध में पर्यटन विभाग की सहायक निदेशक लीना कुमारी की शिकायत पर एसके पुरी थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस छानबीन में पता चला है कि बड़ी राशि के लेन-देन पर चेक भुनाने से पहले बैंक अधिकारी संबंधित बैंक खाता धारक से बात करते हैं. इस मामले में भी बैंक से संबंधित नंबर पर फोन किया गया था. फोन करने पर दूसरी ओर से चेक को क्लियर करने की बात कही गयी थी. कर्मियों की मिलीभगत होने की आशंका पर पुलिस ने पर्यटन विभाग की लेखा शाखा के उन कर्मियों से पूछताछ की थी, जिनके नंबर बैंक में दिये गये थे. लेकिन धोखाधड़ी में किसकी संलिप्तता है, इसका पता नहीं चल सका है.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें – बिहार में 94 हजार शिक्षकों की काउंसलिंग में लगभग आधी सीटें खाली, सरकार की बढ़ी चिंता

Related Articles

Back to top button