World

बांग्लादेश के दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान रखने वाले की हुई पहचान, इकबाल हुसैन को तलाश रही पुलिस

New Delhi : बांग्लादेश के दुर्गा पूजा के पंडालों में हुए हमलों में तीन लोगों की जान चली गई थी. अब बांग्लादेश की कोमिला पुलिस ने खुलासा किया है कि हिंसा भड़काने के पीछे जो व्यक्ति जिम्मेदार था उसकी पहचान कर ली गई है. कोमिल्ला के पुलिस अधीक्षक फारूक अहमद ने ढाका ट्रिब्यून को बताया कि मामले में जिस व्यक्ति की तलाश की जा रही है वह 35 वर्षीय इकबाल हुसैन है. बताया जा रहा है कि आरोपी इकबाल मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं है.

advt

पुलिस ने बताया है कि कोमिला जिले के सुजानगर के रहने वाले हुसैन ने 13 अक्टूबर को नानुआ दिघिर के पूजा मंडप में कुरान की एक प्रति रखी थी. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि गुरुवार को जांच के दौरान इकबाल के इस घटना में शामिल होने का पता चला. बांग्लादेश में पुलिस ने पंडाल में लगे निगरानी कैमरों से प्राप्त सीसीटीवी फुटेज का विश्लेषण करने के बाद हिंसा में इकबाल हुसैन के होने का खुलासा किया.

पुलिस को मिले सीसीटीवी फुटेज में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि इकबाल मस्जिद से कुरान की एक कॉपी लेकर दुर्गा पूजा स्थल तक जाता है. बाद में उसे भगवान हनुमान की एक मूर्ति के पास रखकर चलते हुए देखा गया.

कोमिला एसपी फारूक अहमद ने यह भी कहा कि आरोपी इकबाल हुसैन एक आवारा आदमी  है और उसे अभी तक हिरासत में नहीं लिया गया है. इस महीने की शुरुआत में शहर के एक दुर्गा पूजा पंडाल में हुई हिंसा के सिलसिले में कोमिला पुलिस ने चार मामले दर्ज किए हैं और 41 गिरफ्तारियां की हैं. गिरफ्तार किए गए लोगों में से चार कथित तौर पर इकबाल हुसैन के सहयोगी हैं. इकबाल की मां, अमीना बेगम ने ढाका ट्रिब्यून को बताया कि वह एक ड्रग एडिक्ट है और लगभग 10 साल पहले कुछ पड़ोसियों द्वारा उसके पेट में छुरा घोंपने के बाद से मानसिक रूप से बीमार है.

गौरतलब है कि बीते 7 अक्टूबर को बांग्लादेश में चांदीपुर के हाजीगंज उपजिला में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई जिसमें 3 लोगों की मौत हो गई. यहां 60 लोग घायल हो गए. इस दौरान चटगांव के बांसखाली, कॉक्स बाजार के पेकुआ और शिवगंज के चापाईनवाबगंज समेत कुल 80 से अधिक स्थानों पर हमले किए गए, जिससे देश में अराजकता फैल गई. वहीं, इसके बाद 10 अक्टूबर को इस हिंसा का विरोध कर रहे लोगों पर भी हमले हुए और फिर ढाका से लगभग 157 किलोमीटर दूर फेनी में हिंदू मंदिरों और साथ ही दुकानों में तोड़फोड़ और लूटपाट को अंजाम दिया गया.

इसे भी पढ़ें : GOOD NEWS: भारत ने 100 करोड़ टीकाकरण का लक्ष्य किया पूरा, ऐसा करने वाला दुनिया का दूसरा देश, जश्न की पुरजोर तैयारी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: