न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीएम आवास से कुछ ही दूरी पर एक रिटायर्ड कर्मी के घर में चोरी, जांच में जुटी पुलिस

मौके पर धुर्वा थाना की पुलिस और फॉरेंसिक टीम पहुंच कर जांच कर रही है.

23

Ranchi : राजधानी रांची में चोरों का आतंक बढ़ता जा रहा है. मामला धुर्वा थाना क्षेत्र के सेक्टर 3 यानी सीएम आवास से महज 200 मीटर दूर का है. शुक्रवार रात चोरों ने एचईसी से रिटायर्ड कर्मचारी अनिल कुमार सिन्हा के घर का ताला तोड़कर, लाखों रुपए के सामान की चोरी कर ले गए. मौके पर धुर्वा थाना की पुलिस और फॉरेंसिक टीम पहुंच कर जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें : धनबाद नगर निगम का खेल! तेल की खाली पर्ची पर साइन करने के सवाल पर भड़के नगर आयुक्त

क्या है मामला

रिटायर्ड कर्मी अनिल कुमार सिंहा के बंद पड़े मकान का ताला तोड़कर लाखों रुपए के सामान की चोरी कर ली गई. शनिवार सुबह जब पडोसियों की नजर पड़ी तो देखा कि घर का दरवाजा टूटा हुआ है. जिसके बाद स्थानीय लोगों के द्वारा अनिल कुमार सिंहा को मामले की जानकारी दी गई और साथ ही धुर्वा थाना को भी चोरी की घटना के बारे में बताया गया. उसके बाद मौके पर धुर्वा थाना की पुलिस और फॉरेंसिक टीम पहुंचकर मामले की जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें : रांची लोकसभा क्षेत्र का एक टोला, जहां सड़क नहीं, पेयजल नहीं, चुआं और झरने से प्यास बुझाते हैं ग्रामीण

पिछले 2 महीने से बंद था मकान

प्राप्त जानकारी के अनुसार अनिल कुमार सिन्हा का घर पिछले 2 महीने से बंद पड़ा है. एचईसी से रिटायर्ड होने के बाद अनिल कुमार सिंहा अपने बेटे के पास मुंबई गए हुए थे. इसी बात का फायदा उठाकर चोरों ने उनके घर का ताला तोड़ कर कीमती सामान चोरी करके फरार हो गए.

चोरों द्वारा कितने रुपये की चोरी की गई है इसका अनुमान नहीं लगाया जा सका है. अनिल कुमार सिन्हा के मुंबई में होने के कारण उनके रिश्तेदार की देखरेख में पुलिस मामले की जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें : चार माह में रिकॉर्ड 413 अफसर बदले, 40 IAS भी इधर से उधर, हर दिन औसतन दो ऑफिसर का हुआ ट्रांसफर

क्या कहते धुर्वा थाना प्रभारी

धुर्वा थाना प्रभारी राजीव कुमार कहते हैं कि चोरी की घटना का अंजाम चोरों के द्वारा कब दिया गया इसका कोई पता नहीं है. लोगों ने जब सुबह घर का ताला टूटा देखा तो पुलिस को इसकी सूचना दी. कितने की चोरी हुई है अभी इसका अनुमान नहीं लगाया जा सका है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: